आखिर क्या था डिएगो माराडोना का वह गोल, 36 साल बाद भी याद करते हैं फैंस

0
27
Advertisement

Advertisement
नई दिल्ली: इंतजार की घड़ियां लगभग खत्म हो चुकी है। दुनिया के सबसे लोकप्रिय खेल फुटबॉल का सबसे बड़ा टूर्नामेंट यानी फीफा वर्ल्ड कप की शुरुआत 20 नवंबर से हो रही है। 18 दिसंबर को फाइनल होगा। 32 टीमों के बीच एक महीने तक चलने वाले इस टूर्नामेंट से पहले एकबार फिर डिएगो माराडोना का वो चमत्कारिक कैच याद आ रहा है, जिसे हैंड ऑफ गॉड कहा जाता है। इस गोल ने 1986 में अर्जेंटीना को वर्ल्ड कप चैंपियन बनाने में मदद की थी। आखिर क्या है इस गोल की कहानी और क्यों इसे फैंस आज तक याद रखते हैं, आइए समझते हैं।क्यों कहा जाता था हैंड ऑफ गॉड
Hand of God- माराडोना का वह गोल था जो उन्होंने अर्जेंटीना के लिए इंग्लैंड के खिलाफ 22 जून 1986 के वर्ल्ड कप में किया था। माराडोना ने उछलकर गेंद को गोल पोस्ट में डालने की कोशिश की। वह गेंद को अपने सिर से मारना चाहते थे लेकिन इसके बजाय गेंद उनके हाथ से लगी और गोलकीपर पीटर शिल्टन को छकाते हुए नेट से जा लगी। अर्जेंटीना ने मैच में 1-0 की बढ़त बना ली।


रेफरी हैंडबॉल को मिस कर गए। और उस टाइम पर कोई तकनीक भी नहीं इस्तेमाल की जाती थी जिससे फैसले को बदला जा सके। मैच के बाद माराडोना ने कहा था, ‘मैंने यह गोल कुछ अपने सिर से और कुछ हैंड ऑफ गॉड से किया था।’ अर्जेंटीना ने मैच 2-1 से जीता और सेमीफाइनल में जगह बनाई।

अब फुटबॉल वर्ल्ड कप से पहले माराडोना की वो जर्सी भी नीलाम हो चुकी है। 6 महीने पहले इसे नीलामी में 75 करोड़ की बोली लगाकर खरीदी गया था। वो खास बॉल 2.4 लाख डॉलर में बिकी थी। एडिडास की सफेद रंग की यह फुटबॉल ट्यूनीशिया के रेफरी अली बिन नासेर के पास थी। नासेर ही उस मैच में रेफरी थे। बॉल को ग्रेट ब्रिटेन के ग्राहम बड ऑक्शन में नीलाम किया गया था।

Security guard dance cheerleaders: चीयरलीडर्स संग लचकाने लगा कमर, सिक्योरिटी गार्ड का धांसू डांस देख हर कोई हैरानFifa World Cup beer: स्टेडियम के अंदर स्पेशल बॉटल का इंतजाम, वर्ल्ड कप में मिलेगी ‘खास बीयर’

Source link

Advertisement

Leave a Reply