कोरोना संक्रमण ने डाला नींद पर डाका, सुकूनभरी नींद पाने के लिए अपनाएं ये तरीका

0
129
Advertisement

Advertisement
इन दिनों लोगों के मन में कोरोना जैसे दुश्‍मन का डर बैठा हुआ है। जो उन्‍हें अन्रिद्रा के साथ अवसाद की गिरफ्त में भी ढकेल रहा है। संक्रमण के इस काल में नींद के संकट से बचने के लिए ये उपाय सामने आए जो कि बेहद कारगर साबित होगे ।

कोरोना वायरस (corona virus) ने बीते एक साल में बहुत कुछ बदलकर रख दिया है। इसमें सबसे ज्‍यादा प्रभावित हुई है हमारी लाइफस्‍टाइल (Lifestyle) जिसका एक महत्‍वपूर्ण पार्ट है हमारी नींद । रात में कम से कम 7-8 घंटे की सुकूनभरी नींद जरूरी है। इससे आप पूरे दिन फ्रेश और एनर्जेटिक (fresh and energetic) महसूस करते हैं। अच्छी नींद का संबंध फिजिकल और मेंटल (physical and mental) हेल्थ से भी है। लेकिन इस वायरस ने हमारा स्‍लीप पैटर्न बदलकर रख दिया है। मानसिक चिकित्‍सा के क्षेत्र में इसे कोरोनोस्‍मनिया या कोविडसोम्‍न‍िया (coronosmia or covidsomnia) जैसे टर्म दिए गए हैं। ऐसे में नींद न आना आजकल के समय में ज्यादातर लोगों की समस्या बनती जा रही है।

कोरोना से रिकवर (recover from corona) होने के बाद बहुत सारे लोगों को नींद की समस्या होने लगी है। कोरोना संक्रमित (corona infected) होने पर डर की वजह से नींद नहीं आती थी, लेकिन अब रिकवर होने के बाद भी लोगों की ये परेशानी बनी हुई है। लोगों के बीच कोरोना महामारी (corona pandemic) को लेकर इतना ज्यादा डर पैदा हो गया है कि घबराहट के साथ-साथ मन अशांत हो जाता है जिसके कारण पूरी रात जगते-जगते बीत जाती है। अगर आप भी इस समस्या से परेशान हैं तो अपनाएं ये उपाय आपको आएगी सुकुनभरी नींद।

करवट से सोना (sleeping on the side)
सोने की सबसे अच्छी पोजिशन लेफ्ट करवट (left turn) से सोना माना जाता है। इस पोजीशन में नींद लेने से हार्ट अच्छा रहता है। शरीर में दर्द होने की संभावना भी बहुत कम होती है। लेफ्ट साइड से सोने से ब्लड सर्कुलेशन अच्छा रहता है. इस स्थिति में खर्राटे भी कम आते है और नींद भी अच्छी आती है।

सीधे पीठ के बल सोना (sleeping on straight back)
कुछ लोग सीधे पीठ के बल सोते हैं। हालांकि रात में लोग कभी दाईं, कभी बाईं करवट से सोते रहते हैं। पूरे वक्त पीठ के बल बहुत कम लोग ही सोते हैं। पीठ के बल सोने में रीढ़ की हड्डी को सपोर्ट मिलता है इसलिए इस पोजीशन में सोने से आपको गले का दर्द नहीं होता और पाचन अच्छा रहता है।

उल्टा यानि पेट के बल सोना (upside down)
कोरोना से रिकवरी के बाद आपको पेट के बल भी सोना चाहिए। हालांकि इस पोजीशन में लंबे समय तक सोने में आराम नहीं मिलता। इसे बेबी पोज भी कहते हैं लेकिन ये पोशिजन छोटे बच्चों के लिए ठीक है। जिन लोगों को अनिद्रा की समस्या है, उन्हें इस पोजीशन में सोने से थोड़ा आराम मिल सकता है। वहीं अगर आपके सीने में थोड़ी जलन है, या घबराहट महसूस हो रही है तो आपको इस पोजीशन में सोना बेहतर है। हालांकि इससे पेट पर दबाव पड़ता है।

इनका करें सेवन
रोजाना मेधावटी का सेवन करे। इससे आपको अच्छी नींद आएगी।
ब्राह्मी, सौंफ, उस्तखत दूप, गुलाब फूल, शंखपुष्पी को पानी में भोग दें। दूसरे दिन इसको पानी पी लें। इससे भी आपका मन और दिमाग शांत होगा। जिससे आपको अच्छी नींद आएगी।
बादाम रोगन मन, दिमाग को शांत करने में काफी कारगर है। इसके लिए आप रात को सोते समय एक गिलास दूध में एक चम्मच बादामरोगन डाल लें।
बादाम रोगन, अणु तेल या फिर झणबिंदु तेल की 1-2 बूंद नाक में डाल लें।
रात को 5-5 बादाम, अखरोट को पानी में भिगो दें। सुबह इन्हें पीसकर दूध या पानी में मिला कर पी लें।
दूध के साथ मखाना, पोस्ट दाना की खीर खाने से भी आपको अच्छी नींद आएगी। आप चाहे तो इसमें भिगोया हुआ बादाम और अखरोट भी डाल सकते हैं।
अपनी डाइट में अधिक मात्रा में फलों, सब्जियों और अंकुरित अनाज को शामिल करे। इससे आपको अच्छी नींद आएगी। इसके साथ ही कई खतरनाक बीमारियों से कोसों दूर रहेगे।
सौंफ का पानी भी नींद ना आने की समस्या को दूर करने का काम करेगा। इससे दिमाग भी शांत होगा। इसलिए रोजाना सौंफ के पानी का सेवन करे।

  • 2009 से लगातार जारी समाचार पोर्टल webkhabar.com अपनी विशिष्ट तथ्यात्मक खबरों और विश्लेषण के लिए अपने पाठकों के बीच जाना जाता है।





Source link

Advertisement

Leave a Reply