चलती ट्रेन से उड़ाते थे लोगों का माल, एक करोड़ से अधिक की कर चुके हैं लूट; सीसीटीवी फुटेज से पुलिस ने दबोचा

0
28
Advertisement

Advertisement
ऐप पर पढ़ें
पटना जीआरपी ने चलती ट्रेन से यात्रियों का सामान चुराने वाले अंतरराज्यीय गिरोह के छह कुख्यात बदमाशों सहित नौ लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें तीन सोनार भी हैं। पकड़े गए बदमाशों ने ही दस नवंबर को राजस्थान के कारोबारी का एक करोड़ रुपये मूल्य का दो किलो सोना से भरा बैग चुराया था। बदमाश चोरी के गहने काफी कम कीमत पर सुनारों को बेच देते थे। पुलिस ने चोरी का गहना खरीदने वाले बाकरगंज के तीन ज्वैलर्स को भी दबोचा है। जबकि फरार सोनार गोपीनाथ की तलाश की जा रही है।

लूटपाट का शातिर गिरोह बिहार सहित उत्तर प्रदेश के आगरा, मथुरा, प्रयागराज, महाराष्ट्र व पश्चिम बंगाल में दर्जनों वारदात कर चुके हैं। कई बार जेल भी जा चुके हैं। उनके पास से 85.60 ग्राम सोना और करीब सवा किलो चांदी के आभूषण, 18 लाख रुपये, आभूषण तौलने की मशीन व एक बुलेट मोटरसाइकिल बरामद किया गया है।

पकड़े गए बदमाश लखीसराय के बमनगावा निवासी मनोज मंडल, खुसरूपुर निवासी संतोष कुमार, सुपौल के सुखपुर सुरहनी के उमेश कामत, धनरुआ के नरौरी महादेव निवासी श्रवण कुमार, खाजेकला कोटग्रस्त चौकी के रहने वाले मोनू मिश्रा, भागलपुर बरारी के छोटी खंजरपुर निवासी शशि सिंह हैं। गिरोह का मास्टर माइंड मनोज मंडल है। वहीं इनसे चोरी का सोना खरीदने वाले सोनार महाराष्ट्र सांडली के आनंद पवान, पीरबहोर निवासी अरविंद कुमार और कदमकुआं के भोला दास को भी पुलिस ने दबोचा है। सभी बाकरगंज में ज्वेलर्स की दुकान चलाते हैं।

5 मिनट में उड़ाया था 1 करोड़ का माल

 रेल पुलिस उपाधीक्षक सुशांत कुमार चंचल ने बताया कि राजस्थान के नागौर के कारोबारी भगत कोठी कामाख्या एक्सप्रेस से अपने निवास स्थान असम जा रहे थे। उनके पास मौजूद बैग में दो किलो सोना और दो लाख रुपये थे। गहने उनकी पैतृक संपत्ति की थी। गहने को 100 पाटीदारों के बीच बांटना था। सुबह ट्रेन पटना जंक्शन पर खड़ी थी। इसी बीच बदमाश ए-वन बोगी में चढ़े। घटना के वक्त कारोबारी सो रहे थे। इसी बीच बदमाशों ने पांच मिनट में उनके गहने से भरा बैग चुराया और उतर गए। नींद खुलने पर पीड़ित ने इसकी शिकायत पटना जंक्शन जीआरपी में की थी। इस संबंध में जीआरपी थाने में मुकदमा दर्ज किया गया था। पुलिस ने चलती ट्रेन से एक करोड़ का सोना चोरी होने की घटना को गंभीरता से लिया। अपराधियों को दबोचने के लिए पटना जंक्शन के थानेदार रंजीत कुमार की टीम को लगाया गया।

बिहार के 27 जिलों में 32 कोचिंग संस्थानों पर छापेमारी, करोड़ों की टैक्स चोरी का भंडाफोड़

सीसीटीवी व सर्विलांस के आधार पर पुलिस ने पहले गिरोह के सरगना मनोज मंडल को दबोचा। बाद में उनकी निशानदेही पर गिरोह के सभी सदस्य और चोरी के जेवरात खरीदने वाले सोनारों को भी गिरफ्तार किया गया। चोरों ने चोरी के गहने मात्र 34 लाख रुपये में सुनारों को बेचे थे।

Source link

Advertisement

Leave a Reply