Advertisement

Advertisement

ज्ञानवापी को लेकर इटावा लोकसभा सांसद एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉक्टर रामशंकर कठेरिया ने मुस्लिम पक्ष को नसीहत दी। मुस्लिम समाज को अपना दिल बड़ा करके हिंदुओं को ज्ञानवापी देने की बात कही। अगर ऐसा होता है तो हम लोग इसका स्वागत करेंगे, यदि नहीं देंगे तो कोर्ट के माध्यम से जैसे राम जन्म भूमि का मुद्दा हल हुआ है वैसे ही इसका होगा।

बताते चलें कि बीते शुक्रवार को ज्ञानवापी में एएसआई की टीम हाईकोर्ट के निर्णय के बाद सर्वे करने पहुंची थी। कोर्ट ने हिंदू पक्ष के एएसआई के सर्वे की याचिका पर सुनवाई करते हुए मुस्लिम पक्ष की सर्वे न करने की अपील को खारिज किया था। इसी के बाद ज्ञानवापी में सर्वे शुरू कर दिया गया है।

बीजेपी से इटावा लोकसभा सांसद प्रो. रामशंकर कठेरिया ने मीडिया से बात करते हुए ज्ञानवापी को हिंदू पक्ष को देने की नसीहत दी। साथ ही कहा कि न देने पर जैसे राम मंदिर का मुद्दा कोर्ट के माध्यम से हल हुआ तो इस मुद्दे का भी हल हो जायेगा। रामशंकर कठेरिया में कहा कि मुस्लिम समाज में ज्ञान और व्यापी शब्द मिलते नहीं है। ज्ञान के कुआं का ज्ञान रूपी पानी आदिशंकराचार्य ने पिया था।

इसलिए मुस्लिम समाज का कोई अधिकार नहीं बनता है। ज्ञान का कुआं हिंदू समाज का है। सभी तथ्य और प्रमाण हिंदुओं के पक्ष में हैं। मुस्लिम पक्ष अगर अपना दिल बड़ा करके ज्ञानवापी हम लोगों के देंगे तो हम उनके फैसले का स्वागत करेंगे। उन्होंने कहा कि मथुरा जन्म भूमि पर भी जो लोग इस क्षेत्र में कार्य कर रहे हैं। यदि वो आगे बढ़ते हैं और साक्ष्य मिलते हैं तो हिंदू होने के नाते जो कोर्ट निर्णय करेगा उसको मानते हैं।

Source link

Advertisement