दुकानदारों ने दुकान के सामने करा लिया पक्का निर्माण: शहर में पर्याप्त पार्किंग व्यवस्था नहीं होने के कारण सड़क पर लगता है जाम

0
34
Advertisement

Advertisement
गोपालगंज18 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

जंगलिया के समीप लगा जाम।

शहर में न पार्किंग व्यवस्था सही है, न यातायात व्यवस्था पुरी तरह से चरमरा गई है। जाम से लोग परेशान है। शहर में आए लोगों को अपने स्थान पर जाने के लिए रास्ते बदल कर जाना पड़ रहा है। अतिक्रमण से सड़कें छोटी होती जा रही हैं।

लोगों कि राय है कुछ जरूरी कोशिशों से इन समस्याओं को दूर किया जा सकता है, लेकिन जरूरत है नगर परिषद, पुलिस और जिला परिषद् को मिलकर प्लान तैयार करने की और इस पर काम करने की, लेकिन हर बार ऐसे प्रयास सिर्फ शुरू होते हैं पर अंजाम तक नहीं पहुंच पाते।

शहर से अतिक्रमण हटाने को लेकर समय समय पर जिला परिषद,पुलिस और नगर परिषद काम करती है। लेकिन उसका अंजाम अधिक दिनों तक नहीं रहता है। जिस सड़क से अतिक्रमण हटाया जाता है,उस सड़क पर दूसरे या तीसरे दिन फिर वहीं लोग अतिक्रमण कर लेते हैं। स्थानीय नेताओं ने भी यह मुद्दा जोरशोर से नहीं उठाते है। इसके पीछे भी वोट की राजनीतिक आने लगती है।

सड़कों के अस्थाई अतिक्रमण पूरी तरह से हटाना होगा

शहर की सड़कों के अस्थाई अतिक्रमण पूरी तरह से हटाना चाहिए। पार्किंग के लिए जगह देना चाहिए। सड़कों पर लगने वाली दुकानों के लिए अलग जगह देना होगी। जहां पहले सड़क किनारों पर दुकानें या गुमटियां दे दी, उन्हें दूसरी जगह शिफ्ट कर सड़कें खाली कराना होगी। पोस्ट ऑफिस चौक से थाना चौक,माैनिया चौक से यादोपुर रोड़ और मौनिया से घोष मोड़ पर ये होना जरूरी है

पुलिस विभाग को शहर में यातायात को ठीक करना होगा

यातायात सुधार के लिए ट्रैफिक पुलिस को और एक्टिव करना होगा। शहर के अस्पताल चौक,घोष मोड़,पोस्ट ऑफिस चौक और मौनिया चौक पर ट्रैफिक पुलिस तैनात किए गए है। लेकिन केवल दिखावे के लिए। इन स्थानो में कहीं भी वाहन खड़े हो जाते हैं। सड़कों पर कई बार जाम लगता है। भाड़े ढ़ाने वाले छोटी बड़ी वाहन बंजारी जाने वाली सड़क के दोनों ओर खड़े रहते है जिस कारण जाम लगना एक बड़ा कारण है।

पक्के अतिक्रमण हटाना जरूरी

सड़क के आगे पक्के अतिक्रमण हटाना जरूरी है। शहर में कई जगह दुकानदार अपने दुकान के सामने पक्का का निर्माण करा लिया है। इसके अलावा शहर में मौजूद जिला परिषद विभाग की जमीन का भी उपयोग पार्किंग के तौर पर करने के लिए लोगों को बताया जा सकता है।

पक्के अतिक्रमण हटाना जरूरी

सड़क के आगे पक्के अतिक्रमण हटाना जरूरी है। शहर में कई जगह दुकानदार अपने दुकान के सामने पक्का का निर्माण करा लिया है। इसके अलावा शहर में मौजूद जिला परिषद विभाग की जमीन का भी उपयोग पार्किंग के तौर पर करने के लिए लोगों को बताया जा सकता है।

अतिक्रमण विरोधी मुहिम हो गई बंद

पिछले दिनों अतिक्रमण विरोधी मुहिम सदर एसडीओ के नेतृत्व में नगर परिषद ने छेड़ी थी, कुछ सड़को के अतिक्रमण हटाए गए । लेकिन अचानक बंद हो गई। इसे लेकर कई तरह के सवाल उठा रहे हैं। कुछ लोगों ने कहा कि ऊपरी दबाव के कारण बाकी अतिक्रमण पर कार्रवाई नहीं की जा रही हैं।

खबरें और भी हैं…

Source link

Advertisement

Leave a Reply