दोस्ती की ऐसी मिसाल: जीते जी तो साथ रहे, मरने पर भी नहीं छोड़ा दोस्त का साथ

0
25
Advertisement

लखीमपुर खीरी इलाके में दुर्घना में जान गंवाने वाले शिक्षक दोस्त उमेश गंगवार और हरनाम चंद्र ने साथ में ही नौकरी शुरू थी। दोनों साथ में एक ही स्कूल में पढ़ाते थे और दोनों एक साथ दुनिया छोड़ गए।

Advertisement

Source link

Advertisement

Leave a Reply