नेक्सस 5एक्स का रिव्यू

0
83
Advertisement

Advertisement
गूगल के नेक्सस स्मार्टफोन की पहचान सबसे बेहतरीन एंड्रॉयड के डिवाइस के तौर पर रही है। शुरुआती सफलता के बाद गूगल ने पिछले साल हाई-एंड डिवाइस पेश करने की योजना बनाई। नेक्सस 6, अब तक सबसे बड़ा और महंगा नेक्सस डिवाइस था, लेकिन यह यूज़र को ज्यादा नहीं भाया।

इस साल गूगल ने दो मॉडल नेक्सस 5एक्स और नेक्सस 6पी पेश किए हैं। इस तरह से कंपनी ने जहां एक तरफ मेटल बॉडी डिवाइस पेश किया है और दूसरी तरफ मुख्य बाज़ार के लिए केंद्रित एक शानदार परफॉर्मेंस वाला डिवाइस। इन दोनों ही हैंडसेट के जरिए गूगल यह भी दिखाने की कोशिश कर रहा है कि एंड्रॉयड 6.0 (मार्शमैलो) पर चलने वाले डिवाइस कैसे होने चाहिए।

हम एलजी गूगल नेक्सस 5एक्स को रिव्यू कर रहे हैं, जो थोड़ा सस्ता है। क्या यह हैंडसेट अपनी फैमिली के पुराने स्मार्टफोन की तरह अपनी अलग पहचान बना पाएगा? आइए जानते हैं।

लुक और डिजाइन
नेक्सस 5एक्स को उपयोगिता को ध्यान में रखकर डेवलप किया गया है। इसके फ्रंट पैनल पर बने स्पीकर ग्रिल मोटोरोला के मोटो एक्स सीरीज स्मार्टफोन की तरह है।

5.2 इंच के डिस्प्ले वाले इस डिवाइस को लंबे समय तक एक हाथ में पकड़े रखना, उतना भी आसान नहीं है। पावर बटन दायीं तरफ है। वॉल्यूम रॉकर इसके ठीक नीचे मौजूद हैं।

बायीं तरफ सिंगल नैनो सिम का ट्रे है। दूसरे सिम और माइक्रो एसडी कार्ड के लिए कोई विकल्प नहीं मौजूद है। हमें सिम ट्रे के साथ दिक्कत का सामना करना पड़ा। यही आसानी से फिट नहीं बैठ रहा था और कई बार यह खुद बाहर आ गया। 3.5 एमएम सॉकेट निचले हिस्से में है। सबसे रोचक है कि यूएसबी टाइप-सी पोर्ट का मौजूद होना।

lg google nexus 5x rear ndtv

कुल मिलाकर, हम नेक्सस 5एक्स की बनावट को लेकर बहुत संतुष्ट नहीं हैं। कैमरा के आसपास उभार हमारी पसंद से ज्यादा था। कई बार हमने फिंगरप्रिंट सेंसर को छूने के दौरान अनजाने में कैमरा लैंस को छू दिया। वैसे यह समस्या लगातार डिवाइस को इस्तेमाल करने पर चली जाएगी।

स्पेसिफिकेशन
यह हैंडसेट क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 808 प्रोसेसर से लैस है और ग्राफिक्स के लिए इंटिग्रेटेड है एड्रेनो 418 ग्राफिक्स। डिवाइस में 2 जीबी का रैम भी है। हैंडसेट खरीदने के वक्त आपके पास 16 जीबी या 32 जीबी स्टोरेज का विकल्प मौजूद रहेगा। इसमें माइक्रोएसडी कार्ड के लिए सपोर्ट मौजूद नहीं है।

स्क्रीन 5.2 इंच का है, यह बहुत बड़ा नहीं है। इसका रिज़ॉल्यूशन 1080×1920 पिक्सल है जिसकी पिक्सल डेनसिटी है 423 पीपीआई। स्क्रीन बेहद ही क्रिस्प और क्लीन नज़र आता है। इसमें 2700 एमएएच की बैटरी है। यह वाई-फाई एसी, ब्लूटूथ 4.2, एनएफसी और कैटेगरी 6 एलटीई फ़ीचर से लैस है। आपको डुअल-एलईडी फ्लैश के साथ 12.3 मेगापिक्सल का रियर कैमरा मिलेगा। नेक्सस 5एक्स के प्राइमरी कैमरे से आप 4के रिज़ॉल्यूशन के वीडियो रिकॉर्ड कर पाएंगे। कई लोग इससे निराश होंगे कि नेक्सस 5एक्स में वायरलेस चार्ज़िंग नहीं मौजूद है।

सॉफ्टवेयर
नेक्सस डिवाइस की सबसे बड़ी खासियत गूगल के प्योर एंड्रॉयड का अनुभव होता है। लेटेस्ट नेक्सस हैंडसेट एंड्रॉयड 6.0 मार्शमैलो से लैस हैं। शुरुआत में आपको लगेगा कि नया ऑपरेटिंग सिस्टम लॉलीपॉप वर्ज़न से बहुत अलग नहीं है, लेकिन जैसे-जैसे आप ज्यादा रिसर्च करेंगे, अंतर नज़र आने लगेगा। अब आप ऐप ड्राअर में वर्टिकली स्क्रॉल कर पाएंगे। यह सिंगल लिस्ट में नज़र आएगा।

lg google nexus 5x side ndtv

गूगल नाउ पहले की तुलना में ज्यादा पावरफुल हो गया है। आप स्क्रीन पर अपने एक्शन के लिए लंबे समय तक होम बटन को दबाए रखेंगे तो इसके संबंध में रिजल्ट पाएंगे। अब आप अपने होम स्क्रीन से ही सर्च कर सकते हैं। आपको ऐप्स, क्रोम हिस्ट्री, कॉन्टेक्ट्स और मीडिया से संबंधित रिजल्ट दिखाई देंगे। जिन चार ऐप्स का इस्तेमाल आप बार-बार करते हैं वो टॉप लिस्ट में दिखाई देंगे।

फोन में ओके गूगल वॉयस कमांड हमेशा एक्टिव रहता है। शोरगुल भरे माहौल में भी यह हमारे लिए आसानी से काम कर रहा था। गूगल ने इस बार ऐप पर्मिशन को लेकर क्रांतिकारी बदलाव किया है।

गूगल की जुबान में नेक्सस 5एक्स एंबियंट डिस्प्ले से लैस है। इसकी मदद से स्क्रीन पर नोटिफिकेशन दिखेंगे और ज्यादा पावर का भी इस्तेमाल नहीं होगा। जैसे ही आप फोन को हाथों में उठाएंगे यह अपने आप इसका एहसास कर लेगा और स्क्रीन मोनोक्रोम मोड में चला जाएगा। हालांकि, इस्तेमाल के दौरान हमें इस फंक्शन में दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

फिंगरप्रिंट को सेट अप करना बेहद ही आसान है और आप सेंसर को किसी भी एंगल में टच करेंगे तो यह आपके फिंगरप्रिंट को पहचान लेगा।

मार्शमैलो के साथ नया डोज़ मोड आता है जिससे डिवाइस की बैटरी लाइफ बेहतर होने का दावा किया गया है। जब भी आपका फोन एक्टिव मोड में नहीं होगा यह फ़ीचर अपने आप डिवाइस लो पावर स्टेट में भेज देगा। इस दौरान कई ऐप बैकग्राउंड में काम नहीं कर पाएंगे।

हालांकि, इसमें कुछ कमियां भी हैं। अब आप आसानी से बैटरी प्रतिशत नहीं जान पाएंगे। नोटिफिकेशन लाइट भी कई बार ऑफ रहता है। इसके लिए आपको सेटिंग्स में जाकर बदलाव करना होगा।

कैमरा
कैमरा ऐप पिछले वर्ज़न की तुलना में बेहतर हो गया है। हालांकि, आप तुरंत में नहीं समझ पाएंगे कि कैसे मोड के बीच स्विच करना है।

lg google nexus 5x camsample day1 ndtv thumb
lg google nexus 5x camsample day3 ndtv thumb

फोटो लेने के मामले में नेक्सस 5एक्स की परफॉर्मेंस अच्छी रही। टेक्सचर काफी डिटेल्ड थे, कंप्रेशन की कमी बहुत कम झलकी। डेलाइट में हम कुछ शानदार क्लोज़ शॉट लेने में कामयाब रहे। कलर्स वाइब्रेंट थे और एक्सपोज़र भी आमतौर पर बहुत सही रहा। रात को भी कैमरा अच्छी तस्वीरें लेने में कामयाब रहा। हालांकि, सब्जेक्ट के पूरी तरह से छाये में रहने पर ऐसा संभव नहीं हो पा रहा था। फोटो को एकचुअल साइज़ में रिव्यू करने पर नॉयज नज़र आने लगा, फोकस भी कई बार गड़बड़ हो गया। फ्रंट कैमरा वीडियो चैटिंग के लिए उपयोगी साबित होगा।

परफॉर्मेंस
नेक्सस 5एक्स ने हमें ज्यादातर वक्त खूबसूरत एहसास दिया। इस तरह के हार्डवेयर के साथ ऑपरेटिंग सिस्टम में रिसर्च करने पर हैंडसेट कभी भी धीमा नहीं पड़ता। 2 जीबी का रैम उपयुक्त है। हमने 32 जीबी स्टोरेज वाला डिवाइस रिव्यू किया, इसमें से 24.9 जीबी ही यूज़र के लिए उपलब्ध हैं। यानी 16 जीबी वाले मॉडल में यूज़र ज्यादा हैवी ऐप्स नहीं इंस्टॉल करना चाहेंगे।

lg google nexus 5x typec ndtv

हर परिस्थितियों में स्क्रीन का इस्तेमाल करना सुखद था। यह परस्थितियों के अनुसार से ब्राइट और डिम हो जाता है जो हमें पसंद आया। हमारे सभी सैंपल वीडियो नेक्सस 5एक्स पर आसानी से चले। फोन के फ्रंट स्पीकर से आवाज़ अच्छी आ रही थी।

हमें फोन के गर्म होने की समस्या का भी सामना नहीं करना पड़ा। लगातार 20 मिनट तक गेम खेलने के बाद यह थोड़ा गर्म ज़रूर हुआ, पर परेशानी वाली कोई बात नहीं थी। एलटीई नेटवर्क से भी कनेक्टिविटी अच्छी थी और वॉयस क्वालिटी को लेकर भी हमें कोई शिकायत नहीं है।

वीडियो लूप बैटरी टेस्ट में फोन 9 घंटे 30 मिनट तक चला। ये नतीजे अच्छे हैं, शानदार तो बिल्कुल नहीं।

हमारा फैसला
गूगल के नेक्सस फोन को ज्यादातर लोगों ने सराहा है। नया नेक्सस 5एक्स खासकर उन लोगों के लिए महत्वपूर्ण है जो नेक्सस 6 के साइज और कीमत से निराश हुए थे। जो यूज़र नेक्सस 4 या 5 से अपग्रेड करने की सोच रहे हैं वे नेक्सस 5एक्स से खुश होंगे।

lg google nexus 5x box ndtv

मार्शमैलो के साथ भी प्योर एंड्रॉयड का अनुभव बरकरार है। यह पहले की तुलना में ज्यादा पॉलिश्ड है। गूगल ने इस बार खराब कैमरा क्वालिटी की शिकायत को भी दूर करने की कोशिश की है। दूसरी तरफ, इसमें माइक्रोएसडी कार्ड के लिए सपोर्ट मौजूद नहीं है।

नेक्सस 5एक्स एक बेहतरीन फोन है, लेकिन 16 जीबी के लिए 31,900 रुपये और 32 जीबी के लिए 35,900 रुपये खर्चना कई यूज़र को उचित नहीं लगेगा। एंड्रॉयड मार्केट की हकीकत यही है कि आज की तारीख में बाज़ार में इसी तरह के फ़ीचर और स्पेसिफिकेशन वाले कई डिवाइस इससे कम कीमत में उपलब्ध हैं। अगर कीमत को लेकर आपको कोई शिकायत नहीं है तो आपके पास सैमसंग गैलेक्सी एस6 जैसे शानदार डिवाइस के विकल्प मौजूद हैं।

Source link

Advertisement

Leave a Reply