पानीपत में पुलिस पूछताछ के दौरान मौत का मामला: परिजन को नौकरी, आर्थिक मदद, आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई के आश्वासन पर उठाया अय्यूब का शव

0
107
Advertisement

Advertisement

पानीपत39 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

सिविल अस्पताल में विलाप करती महिलाएं।

  • लड़की भगाने के मामले को लेकर किला थाने में पूछताछ के दौरान हुई थी व्यक्ति की मौत
  • ASI समेत तीन पर हत्या का केस, मामले की जांच के लिए गठित की गई SIT

किला थाने में पूछताछ के दौरान व्यक्ति की मौत के मामले में पुलिस ने एक परिजन को DC रेट पर नौकरी, आर्थिक मदद और सभी आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई का आश्वासन दिया। जिसके बाद परिजन शव लेने को राजी हो गए। आरोपी ASI समेत तीन पर हत्या का केस दर्ज किया गया है। मामले की जांच के लिए SP ने ASP पूजा वशिष्ठ की अध्यक्षता में SIT का गठन किया है। परिजनों ने दोबारा किला पुलिस पर रुपए लेने के आरोप लगाए हैं।

हंगामे की आशंका को देखते हुए सिविल अस्पताल में तैनात पुलिस फोर्स।

हंगामे की आशंका को देखते हुए सिविल अस्पताल में तैनात पुलिस फोर्स।

डाबर कॉलोनी के लड़के द्वारा अशोक विहार कॉलोनी की लड़की को भगा लेने जाने के मामले में पूछताछ के दौरान लड़के के विद्यानंद कॉलोनी निवासी मौसा की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। जिसके बाद परिजनों ने सिविल अस्पताल में जमकर हंगामा किया और आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई के बाद ही शव उठाने की शर्त रखी।

रातभर परिजन सिविल अस्पताल में डटे रहे। बुधवार सुबह ASP पूजा वशिष्ठ परिजनों के बीच पहुंची और उनकी सभी मांग मान ली। जिसके बाद परिजन शव उठाने को राजी हुए। पुलिस ने मृतक के एक परिजन को DC रेट पर नौकरी, आर्थिक मदद और सभी आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई का भरोसा दिया है।

SP ने की SIT गठित
इस मामले में SP शशांक कुमार सावन ने ASP पूजा वशिष्ठ की अध्यक्षता में SIT का गठन किया है। इसमें पुलिस अधिकारियों के साथ दो वकीलों भी शामिल किया गया है। SIT अय्यूब की मौत और हत्या की गुत्थी सुलझाने के बाद कार्रवाई करेगी।

ASI समेत तीन पर हत्या का केस
अय्यूब की मौत के मामले में पुलिस ने लड़की को भगा ले जाने के जांच अधिकारी ASI धर्मवीर, लड़की के चाचा सुमित और मामा सुनील पर हत्या का केस दर्ज किया है। तीनों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

दामाद बोला- नौ पुलिसकर्मियों ने होश में ला-लाकर दी यातनाएं
अय्यूब के दामाद दिलशाद ने बताया कि किला पुलिस उन दोनों को पूछताछ के लिए लेकर गई थी। दोनों को थाने की छत पर ले जाकर पिटाई की। नौ पुलिसकर्मी उसके ससुर पर लाठियां और लात बरसा रहे थे। वह बेहोश होते तो मुंह पर पानी डालकर होश में लाते और फिर मारपीट करते। दिलशाद ने पुलिस पर रुपये लेने के आरोप भी दोहराए हैं।

खबरें और भी हैं…

Source link

Advertisement

Leave a Reply