Advertisement

Advertisement
लखनऊएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

राजधानी लखनऊ में बीते दो दिनों से बादल तो छाए हुए है। यह तस्वीर हजरतगंज चौराहे की है।

गर्मी एक बार फिर से बढ़ने लगी है। मानसून आने में हो रही देरी के कारण से लोग परेशान हैं। गुरुवार को उमस भरी गर्मी ने परेशान किया। तापमान एक बार फिर से 38 डिग्री को पार कर गया। 23 जून को बीतने के बाद भी आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र यह जानकारी देने में फेल रहा कि, मानसूनी बारिश कब शुरू होगी। मौसम विभाग का कहना कि अगले सप्ताह तक बहुत तेज गर्मी तो नहीं होगी लेकिन तीन महल के बाद में और हवा के कारण तापमान 37 से 38 डिग्री तक रहेगा।

मानसूनी बारिश का अनुमान हुआ है फेल

मानसून उत्तर प्रदेश में प्रवेश करते ही कमजोर पड़ गया है। इसका लगभग एक सप्ताह का तक मानसूनी बारिश की संभावना कम हो गई है। मौसम विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता का कहना है कि पहले चरण का मानसून पश्चिम बंगाल में सक्रिय होकर गुजरात, झारखंड और बिहार होते हुए दक्षिण पूर्व यूपी में प्रवेश किया था। लेकिन चुर्क में यही मानसून कमजोर होने के कारण थम गया। उन्होंने बताया कि बंगाल की खाड़ी से दूसरी बार मानसून सक्रिय होगा इसके बाद ही राजधानी में बरसात होने की संभावना बढ़ेगी।

राजधानी वासियों को सताएगी

बारिश इस बार 18 जून से मानसून सक्रिय होने का अनुमान जारी किया गया था लेकिन 18 जून बीतने के बाद भी आंचलिक मौसम केंद्र कह रहा है कि राजधानी में हाल-फिलहाल मानसून आने की संभावना नहीं है। अनुमान के आधार पर कहा जा सकता है कि जून के अंतिम दिनों में ही बारिश की संभावना है। तब तक गर्मी का प्रकोप झेलना पड़ेगा।

खबरें और भी हैं…

Source link

Advertisement

Leave a Reply