बिरयानी खाकर वसीम अकरम बने थे 1992 के मैन ऑफ द मैच, सैम करन की सफलता का क्या राज है?

0
27
Advertisement

Advertisement
मेलबर्न: मेलबर्न में इंग्लैंड को हराकर पाकिस्तान ने 1992 वर्ल्ड कप का फाइनल जीता था। मगर 30 साल बाद 2022 के टी-20 वर्ल्ड कप में उसे रविवार रात मुंह की खानी पड़ी। 1992 फाइनल के मैन ऑफ द मैच वसीम अकरम थे, तब उन्होंने बिरयानी खाकर मैच विनिंग परफॉर्मेंस दी थी। इस बार इंग्लैंड के सैम करन ने कुछ खाकर नहीं बल्कि त्यागकर अपने देश को टी-20 का चैंपियन बनाया।

IPL के करोड़ों रुपये ठुकराए

23 साल का यह ऑलराउंडर आईपीएल में बीते दो सीजन से चेन्नई सुपर किंग्स की ओर से खेल रहा था। इस साल हुए मेगा ऑक्शन में खुद को रजिस्टर्ड ही नहीं करवाया। फिटनेस की परेशानियों के चलते पहले रीहेब से गुजरा और फिर काउंटी क्रिकेट खेलकर मैदान में वापसी की। करन जिस लेवल के प्लेयर हैं, उन्हें अपने साथ करने के लिए फ्रैंचाइजी तिजोरियां खोल देती, लेकिन करोड़ों रुपये ठुकराकर इस लेफ्ट आर्म पेसर ने अपनी नेशनल ड्यूटी को तरजीह दी क्योंकि उन्हें पता था कि साल के अंत में टी-20 वर्ल्ड कप होना है। इंग्लैंड के इस ऑलराउंडर ने कहा था कि वह इस आईपीएल खेल सकते थे, लेकिन चोट लगने के किसी संभावित खतरे को टालना चाहते थे।

वसीम अकरम का बिरयानी कनेक्शन
1992 वर्ल्ड कप से ठीक पहले वसीम अकरम ने मेलबर्न के एक पाकिस्तानी रेस्त्रा से बिरयानी मंगवाई थी क्योंकि उन्हें सैंडविच परोसा जा रहा था। स्विंग के सुलतान ने ड्रेसिंग रूम में गरमागरम बिरयानी खाई और फिर मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड की मशहूर जीत में दो अजेय गेंद फेंकी। 1980 में लाहौर से आकर मेलबर्न बस गए इफ्तिखार शाह ने कभी नहीं सोचा था कि उनके होटल में पाकिस्तानी टीम खाना खाएगी और वह अपने मुल्क को ऑस्ट्रेलिया में जीतते देखेंगे। उस फाइनल में वसीम अकरम ने 10 ओवर के अपने स्पैल में अकरम ने 49 रन देकर 3 विकेट झटके। इयान बॉथम, एलन लैम्ब और क्रिस लुईस जैसे अहम विकेट चटकाए।

सैम करन का शानदार स्पैल

सैम ने टी-20 वर्ल्ड कप फाइनल के इतिहास का तीसरी सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी की। उन्होंने सिर्फ 12 रन देकर 3 विकेट निकाले। वर्ल्ड कप फाइनल में उनसे बेहतर सिर्फ अजंता मेंडिस (4/12) और सुनील नरेन (3/9) के 2012 के फाइनल में डाले गए स्पेल रहे हैं। स्लॉग ओवर्स (16-20) में सभी टीमों को परेशान करने वाले सैम ने पाकिस्तान को भी नहीं छोड़ा। यहां भी उन्होंने स्लॉग ओवर्स के अपने दो ओवर्स में केवल सात रन देकर मसूद और नवाज के रूप में दो विकेट निकाले। इस वर्ल्ड कप में सैम ने कुल 13 विकेट निकाले जिसमें नौ विकेट स्लॉग ओवर्स में मिले।T20 World Cup: शैम्पेन उड़ने से पहले ही बटलर ने आदिल-मोईन को हटाया, ड्रेसिंग रूम में खुली बीयर की बोतलेंShaheen Afridi T20 World Cup: हाय रे किस्मत…! तब कैच छोड़कर हारा था, अब कैच पकड़कर हार गया पाकिस्तान

Source link

Advertisement

Leave a Reply