भारत ऐसी व्यवस्था में विश्वास नहीं करता जहां कुछ देशों को दूसरों से श्रेष्ठ समझा जाता है: राजनाथ

0
35
Advertisement

उन्होंने कहा, ''मेरा दृढ़ विश्वास है कि अगर सुरक्षा सही अर्थों में सामूहिक उद्यम बन जाती है तब हम एक ऐसी विश्व व्यवस्था तैयार करने के बारे में सोच सकते हैं जो हम सभी के लिए लाभदायक हो।''

Advertisement

Source link

Advertisement

Leave a Reply