Advertisement

Advertisement
यमुना एक्सप्रेसवे (Yamuna Expressway) पर मई महीने में हुए दो बड़े हादसों के बाद सुरक्षा उपायों पर फिर से योजना बनेगी। इसमें तय लेन का पालन कराने, ओवरलोड वाहनों पर अंकुश, एंबुलेंस व पेट्रोलिंग वाहनों की बढ़ोतरी को शामिल किया जाएगा। इसके साथ ही जागरूकता अभियान चलाया जाएगा। यमुना एक्सप्रेसवे प्रबंधन और यमुना प्राधिकरण मिलकर नए सिरे से कार्ययोजना बनाकर लागू करेंगे।

यमुना एक्सप्रेसवे पर मई महीने में दो बड़े हादसे हुए। एक हादसे में सात और दूसरे हादसे में पांच लोगों की जान चली गई। इन हादसों की वजह आगे चल रहे ओवरलोड वाहन रहे। इन हादसों के लिए इन्हीं वाहनों को जिम्मेदार माना जा रहा है। इन हादसों के बाद यमुना एक्सप्रेसवे पर सुरक्षा उपायों की फिर समीक्षा करने की जरूरत पड़ी है। यमुना एक्सप्रेसवे प्रबंधक और यमुना प्राधिकरण मिलकर नई कार्ययोजना बनाएंगे ताकि हादसों को रोका जा सके।

यीडा सीईओ डॉ. अरुणवीर सिंहने कहा कि यमुना एक्सप्रेसवे पर मई में दो बड़े हादसे हुए हैं। इन हादसों पर अंकुश लगाने के लिए कई उपाय किए जाएंगे। नई कार्ययोजना भी बना रहे हैं।

सीएम के समक्ष उठा मुद्दा

लखनऊ में गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सड़क सुरक्षा को लेकर बैठक की थी। इस बैठक में भी यमुना एक्सप्रेसवे का मुद्दा उठा था। मुख्यमंत्री को एक्सप्रेसवे पर सुरक्षा के लिए किए गए उपायों को बताया गया। आगामी योजनाओं के बारे में भी बताया गया।

संबंधित खबरें

इन कामों पर रहेगा जोर

1. एक्सप्रेसवे पर आवेरलोड वाहनों पर अंकुश लगाया जाएगा। अभी ओवरलोड वाहनों के कारण हादसे होते हैं। इसके लिए यहां पर इलेक्ट्रिक मशीनें लगाई जाएंगी ताकि उनका वजन किया जा सके।

2. एक्सप्रेसवे पर पर ओवरटेकिंग लेन, भारी वाहनों की लेन, हल्के वाहनों की लेन तय है। इसके बावजूद इसका पालन नहीं किया जाता है। लेन का पालन कराने के लिए योजना बनेगी। कैमरों के जरिये इस पर निगाह रखी जाएगी। ऐसे वाहन चालकों पर भारी जुर्माना लगेगा जो लेन के नियम का उल्लंघन करेंगे।

3. यहां पर जागरूकता के अभाव में भी हादसे होते हैं। एक्सप्रेसवे पर चलने वालों के लिए जागरूकता अभियान चलेगा। इसमें गति, लेन सिस्टम आदि के बारे में बताया जाएगा। पंफ्लेट बांटे जाएंगे। टोल प्लाजा पर रुकने वाले चालकों को इस बारे में बताया जाएगा ताकि लोग वाहन चलाते समय जागरूक रहें।

4. यमुना एक्सप्रेसवे पर पेट्रोलिंग व एंबुलेंस की संख्या दोगुनी की जाएगी ताकि हताहत लोगों को बहुत जल्द सहायता मिल सके। इसके अलावा एक्सप्रेसवे पर पुलिस थाने बनाए जाएंगे।

Source link

Advertisement

Leave a Reply