लेनोवो वाइब के4 नोट का रिव्यू

0
95
Advertisement

Advertisement
बजट और मिड रेंज स्मार्टफोन सेगमेंट में हर रोज टक्कर कड़ी से कड़ी होती जा रही है और ग्राहकों को लगातार एक के बाद एक कई विकल्प मिल रहे हैं। अब स्मार्टफोन यूजर को सभी बेहतरीन और लेटेस्ट फीचर पाने के लिए ज्यादा कीमत खर्च करने के लिए नहीं सोचना पड़ता क्योंकि एलई 1एस (रिव्यू) और शाओमी रेडमी नोट 3 (रिव्यू) जैसे स्मार्टफोन कम कीमत में सारे टॉप स्पेसिफिकेशन उपलब्ध कराते हैं।

शाओमी और एलईईको के अलावा बात करें लेनोवो की, तो आज हम वाइब के4 नोट का रिव्यू करने वाले हैं। के3 नोट की सफलता के बाद लेनोवो का यह फोन भी ग्राहकों को खूब लुभा रहा है। शुरुआत में लेनोवो ने इस स्मार्टफोन को फ्लैश सेल में बेचा था लेकिन अब यह स्मार्टफोन बिना फ्लैश सेल के खरीदा जा सकता है। क्या लेनोवो वाइब के4 नोट में वो सारे फीचर हैं जिससे यह 2016 के टॉप बजट स्मार्टफोन में अपनी जगह बना सकता है? क्या कहता है हमारा रिव्यू, जानें

लुक और डिजाइन
जहां रेडमी नोट 3 और एलई 1एस मेटल बॉडी स्मार्टफोन हैं वहीं लेनोवो वाइब के4 नोट प्लास्टिक बॉडी का बना है। बैक पैनल से लेकर डिवाइस के किनारे तक हर चीज को बनाने में प्लास्टिक का इस्तेमाल हुआ है लेकिन यह मेटल बॉडी वाले रेडमी नोट 3 और एलई 1एस से ज्यादा हल्का है। प्लास्टिक बॉडी होने के बावजूद यह ठीकठाक दिखता है।

बैक पैनल पर कैमरा, फिंगरप्रिंट सेंसर और फ्लैश और लेनोवो व डॉल्बी एटमॉस लोगो दिये गए हैं। हमारी मैट फिनिश वाली ब्लैक कलर रिव्यू यूनिट देखने में अच्छी थी। इसके अलावा यह व्हाइट कलर वेरिएंट में भी उपलब्ध है। सिम कार्ड और माइक्रोएसडी कार्ड बदलने के लिए बैक पैनल को आसानी से हटाया जा सकता है। अच्छी बात यह है कि फोन में दो सिम स्लॉट के साथ स्टोरेज बढ़ाने के लिए अलग से माइक्रोएसडी कार्ड स्लॉट मौजूद है।
 

लेनोवो वाइब के4 नोट में दायीं तरफ पॉवर और वॉल्यूम बटन जबकि यूएसबी पोर्ट नीचे की तरफ और 3.5 एमएम ऑडियो जैक ऊपर की तरफ है। फोन का अगला हिस्सा लगभग लेनोवो वाइब के3 नोट की तरह ही है. फोन के अगले हिस्से में डुअल स्पीकर लेआउट, एक्सटेंडेड गोरिल्ला ग्लास से लैस कैपेसिटिव की, फ्रंट कैमरा, सेंसर और एलईडी इंडिकेटर दिये गए हैं।

फोन के साथ प्लास्टिक प्रोटेक्टिव केस, स्क्रीन प्रोटेक्टर फिल्म और एक 10 वॉट का चार्जर आता है। यह चार्जर फोन में दी गई 3300 एमएएच की बैटरी को बहुत तेजी से चार्ज करता है। हालांकि प्रोटेक्टिव केस से फोन थोड़ा भारी हो जाता है लेकिन स्क्रैच और किनारे खराब होने से बचाने का यह अच्छा तरीका है।
 

लेनोवो वाइब के4 नोट में 5.5 इंट का फुल-एचडी आईपीएस एलसीडी पैनल है। फोन कभी-कभी थोड़ा बहुत गर्म भी होता है। स्मार्टफोन की स्क्रीन चमकदार, शार्प और डिटेलिंग युक्त है। फोन की कीमत के हिसाब से इसका स्क्रीन अच्छा है।

स्पेसिफिकेशन और सॉफ्टवेयर
लेनोवो वाइब के4 हैंडसेट में 64-बिट ऑक्टा-कोर मीडियाटेक एमटी6753 चिपसेट का इस्तेमाल किया गया है। यह क्वालकॉम के स्नैपड्रैगन 615 प्रोसेसर के समान ही है लेकिन तीन महीने में ही यह पुराना सा लगने लगा है। एलई 1एस में ज्यादा शक्तिशाली मीडियाटेक हीलियो एक्स10 प्रोसेसर है जबकि रेडमी नोट 3 भी ज्यादा पॉवरफुल स्नैपड्रैगन 650 प्रोसेसर पर चलता है। लेकिन अगर आप बेहतर परफॉर्मेंस चाहते हैं तो ये दोनों वाइब के4 नोट से ज्यादा बेहतर स्मार्टफोन हैं।
 

फोन में मल्टीटास्किंग को आसान बनाने का काम करता है 3 जीबी का रैम। फोन की इनबिल्ट स्टोरेज 16 जीबी है जिसे माइक्रोएसडी कार्ड की मदद से 128 जीबी तक बढ़ाया जा सकता है। फोन में वाई-फाई बी/जी/एन/एसी और 4जी कनेक्टिविटी दोनों सिम पर दी गई है। हालांकि एक समय में सिर्फ एक सिम पर 4जी और दूसरी सिम पर 3जी का इस्तेमाल कर सकते हैं। एलई 1एस और रेडमी नोट 3 में दी गई 32 जीबी स्टोरेज की तुलना में लेनोवो वाइब के4 नोट में 16 जीबी स्टोरेज ही है। लेकिन एलई 1एस में जहां स्टोरज एक्सपेंडेबल नहीं है तो रेडमी नोट 3 में इसे सिर्फ 32 जीबी तक ही बढ़ा सकते हैं।

लेनोवो वाइब के4 नोट एएनटी वीआर हेडसेट के साथ आता है जिसे 1,299 रुपये की अतिरिक्त कीमत पर खरीदा जा सकता है। फोन किसी भी वीआर इस्तेमाल के लिए फाटफट कंटेट तैयार कर लेता है। वीआर इस्तेमाल के लिए आप पॉवर मेन्यू के जरिए फोन को वीआर मोड में स्विच करहेडसेट को स्लॉट में लगा इस्तेमाल कर सकते हैं। वीआर फीचर के साथ आने वाली सभी डिवाइस में लेनोवो वाइब के4 नोट बेहद अफॉर्डेबल है जिससे यह सबसे अनोखा और खास भी बनता है।
 

लेनोवो वाइब के4 नोट एंड्रॉयड 5.1 लॉलीपॉप ऑपरेटिंग सिस्टम पर चलेगा जिसके ऊपर कंपनी वाइब यूआई स्किन का इस्तेमाल किया गया है। फोन में सबसे काम का बदलाव है इसका डुअल लेयर्ड मोड। आप अपनी सुविधानुसार सिंगल लेयर्ड मोड भी चुन सकते हैं।

5.5 इंच का फुल-एचडी (1080×1920 पिक्सल) आईपीएस डिस्प्ले है और इसके ऊपर गोरिल्ला ग्लास 3 का प्रोटेक्शन भी मौजूद है। स्क्रीन की पिक्सल डेनसिटी 401 पीपीआई है और यूज़र को कलर बैलेंस करने का कंट्रोल भी मिलेगा।
 

फोन में सबसे ज्यादा सुधार इसके यूजर इंटरफेस के कस्टमाइज विकल्प में हुआ है। फोन के होम स्क्रीन और इंटरफेस से लेकर क्विक सेटिंग मेन्यू तक अब आसानी से कस्टमाइज किये जा सकते है और आप अपने फोन को मनचाहे अनुसार सेट कर सकते हैं। वाइब एक्स 3 में दिया नोटिफिकेशन लॉग फीचर भी वाइब के4 नोट में दिया गया है, जिससे आप जिन नोटिफिकेशन को हटा चुके हैं वो बाद में देख सकते हैं। फोन में अमेज़न, वीचैट जैसे कई दूसरे ऐप प्री-इंस्टॉल आते हैं लेकिन अगर आप इन्हें अनइंस्टॉल करने आपने फोन को खाली करना चाहते हैं तो उसके लिए आप मुक्त हैं।

स्क्रीन को एक्टिव करने के लइ डबल-टैप, लॉक करने के लिए फ्लिप फोन कवर के अलावा जल्द तस्वीर खींचने के लिए वॉल्यूम बटन को दो बार दबा सकते हैं। फिंगरप्रिंट सेंसर को दो फिंगरप्रिंट तक स्टोर कर रिकगनाइज कर सकते हैं जिसे फोन को अनलॉक करने में इस्तेमाल कर सकते हैं। फिंगरप्रिंट सेंसर फटाफट और आसानी से काम करता है व बिना किसी परेशानी के फोन को अनलॉक कर देता है।

कैमरा
लेनोवो वाइब के4 नोट में डुअल-टोन एलईडी फ्लैश के साथ 13 मेगापिक्सिल का रियर कैमरा जबकि 5 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा है। दोनों ही कैमरे से 1080पी पर वीडियो रिकॉर्ड कर सकते हैं। कैमरे में पैनोरमा, फिल्टर, सेल्फ टाइमर, एचडीआर और मल्टी-शॉट जैसे सभी बेसिक फीचर दिये गए हैं।
 

lenovo_vibe_k4_note_camera1_ndtv.jpg

(पूरी तस्वीर देखने के लिए टैप करें)

कैमरा ऐप साधारण है। वीडियो रिकॉर्डिंग के दौराम दो स्टेप में प्रक्रिया अपनानी पड़ती है और मोड मेन्यू में पैनोरमा मोड या फिल्टर ही चुन सकते हैं। सेटिंग मेन्यू में जाकर आप सेटिंग को मैनुअली नियंत्रित कर सकते हैं। फोटो रिजॉल्यूशन और रेशियो, वीडियो रिजॉल्यूशन और दूसरी चीजें जैसे टच शटर, स्माइल डिटेक्शन और सेल्फ टाइमर जैसी चीजें सेटिंग में दी गई हैं।फोन के प्राइमरी कैमरे से ली गी तस्वीरें फोकस में शार्प और डिटेल नजर आती हैं लेकिन तस्वीर के चमकदार हिस्से में धुधलापन दिखता है। क्लोज-अप, इंडोर शॉट और कम रोशनी में भी हमें तस्वीरें खींचने में कोई दिक्कत नहीं हुई और तस्वीरों की क्वालिटी काफी अच्छी देखने को मिली। (पूरी तस्वीर देखने के लिए टैप करें) बहरहाल, तस्वीर में चमकदार रंग होने पर धुंधलापन एक बड़ी समस्या है। लेकिन वाइब के4 नोट की तस्वीरें बहुत ज्यादा खराब नहीं है लेकिन इस कीमत में आने वाले फोन की अपेक्षा इस स्मार्टफोन  से आने वाली तस्वीरों की क्वालिटी अच्छी कही जा सकती है। लेकिन अगर कैमरा क्वालिटी आपके लिए बड़ी और जरूरी है तो आपके लिए आसुस ज़ेनफोन मैक्स कहीं ज्यादा बेहतर विकल्प है।

परफॉर्मेंस
लेनोवो वाइब के4 हैंडसेट में 64-बिट ऑक्टा-कोर मीडियाटेक एमटी6753 चिपसेट के साथ माली टी720एमपी3 जीपीयू का इस्तेमाल किया गया है। फोन में 3 जीबी रैम है। इस सॉफ्टवेयर के साथ हैंडसेट आसानी से बिना किसी परेशानी के चलता है और फोन की परफॉर्मेंस में आपको शायद ही कोई परेशानी देखने को मिले। फोन में गेम खेलने के दौरान भी कोई परेशानी नहीं होती हालांकि डेड ट्रिगर 2 खेलते वक्त फोन थोड़ा गर्म होता है और इस दौरान बैटरी भी जल्दी खत्म होती है।

लेनोवो वाइब के4 नोट शानदार परफॉर्मेंस देता है और एलई 1एस व शाओमी रेडमी नोट 3 जैसे प्रतिद्वंदियों को पीछे छोड़ देता है। वीडियो लूप टेस्ट के दौरान फोन में दी गई 3300 एमएएच की बैटरी 8 घंटे 54 मिनट तक चली। वहीं दिन भर फोन को साधारण इस्तेमाल करने पर बैटरी उम्मीद से कहीं अधिक चली। फोन का स्क्रीन बैटरी की खपत ज्यादा करता है तो इसलिए आप जितना कम स्क्रीन का इस्तेमाल करेंगे आपकी बैटरी उतनी ज्यादा चलेगी।

फ्रंट में दिए डुअल स्टीरियो स्पीकर की मदद से फोन में शानदार आवाज मिलती है। फोन का ऑडियो तेज, साफ और शार्प है, इसके साथ ही हेडफोन के साथ भी आवाज अच्छी रहती है। वाइब के4 नोट में डॉल्बी एटमॉस सपोर्ट है।
 

हमारा फैसला
लेनोवो वाइब के4 नोट का परिणाम हमारे लिए मिला-जुला रहा। कुछ जगह इसने शानदार काम किया (जैसे स्क्रीन, फिंगरप्रिंट सेंसर, सोनिक कैपेबिलिटी और शानदार सॉफ्टवेयर।) फोन में वीआर भी बेहतर ढंग से इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके अलावा ध्यान देने वाली बात है कि दो सिम के साथ आप माइक्रोएसडी कार्ड से 128 जीबी तक एक्सपेंडेबल स्टोरेज बढ़ा सकते हैं। फोन को बिना किसी परेशानी के चलाने में 3 जीबी रैम का भी बड़ा हाथ है।

लेकिन लेनोवो वाइब के4 नोट में कुछ कमियां भी है, बात जब आती है कंस्ट्रंक्शन मटेरियल, इंचरनल स्टोरज, परफॉर्मेंस और कैमरा क्वालिटी की तो लेनोवो वाइब के4 अपने प्रतिदव्ंदियों से थोड़ा पीछे रह जाता है।

लेकिन 2016 की शुरुआत में लॉन्च हुआ लेनोवो वाइब के4 नोट एक शानदार स्मार्टफोन है जिसे शाओमी और एलईईको ने अब कड़ी टक्कर दे दी है। टक्कर खासी कड़ी है और हमें कहना पड़ कहा है कि शाओमी रेडमी नोट 3 हर तरह से लेनोवो वाइब के4 नोट से बेहतर फोन है। हालांकि, अगर वीआर और सॉफ्टवेयर, ब्रांड वेल्यू आपके लिए मायने रखता है तो आप निश्चित तौर पर लेनोवो वाइब के4 बिना सोचे-समझे खरीद सकते हैं।

Source link

Advertisement

Leave a Reply