Advertisement

Advertisement
सीतामढ़ी3 घंटे पहले

शिवहर जिले के पिपराही के बेलवा डैम के पास सुरक्षात्मक तटबंध एक बार फिर से लोगों में डर पैदा कर दिया है। तटबंध में रिसाव शुरू होने से बेलवा नरकटिया सहित आस-पास के गांव में भय का माहौल है। हालांकि की इस खौफनाक मंजर से करीब हजारों घरों के लोग हर साल सामना करते हैं। इस बार बेलवा डैम को सही करने के लिए खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार निरीक्षण करने पहुंचे थे। बावजूद उक्त तटबंध की मरम्मती संतोषजनक नहीं बताई जा रही है।

नेपाल के तराई क्षेत्र में भारी बारिश को लेकर बागमती नदी के जलस्तर में उतार-चढ़ाव जारी है। आज सुबह बाढ़ का पानी 61.28 मीटर से पार करते हुए एक 61.87 मीटर पहुंच गया है। हालांकि जलस्तर मौजूदा समय में घट रहा है।

बता दें कि बेलवा डैम के पास तटबंध से रिसाव की खबर सुनते ही जिला प्रशासन और जल संसाधन विभाग में खलबली मच गई। जिसके बाद उक्त खबर सुनते ही भारी संख्या में सुरक्षाकर्मी और जिला प्रशासन के लोग घटना स्थल पर पहुंचे। रिसाव की खबर सुनने के बाद प्रभारी डीडीसी सह एडीएम शंभू शरण, एसडीओ मोहम्मद इश्तियाक अली, पिपराही बीडीओ मोहम्मद वासिक हुसैन, अंचल अधिकारी कुमारी पुष्पलता समेत बागमती परियोजना के कार्यपालक अभियंता शशि कुमार चौधरी, सहायक अभियंता राजेश कुमार ने स्थल का निरीक्षण करते हुए कई आवश्यक दिशा निर्देश उपस्थित कर्मियों को दिया है। वर्तमान में स्थित सामान्य बताई जा रही है।

इस संबंध में एसडीओ इस्तेयाक अली ने बताया की तटबंध अभी सुरक्षित है। रिसाव को रोकने में कर्मी लगे हुए है। बाढ़ को रोकने के एसडीआरएफ की टीम भी बागमती तटबंध पर मौजूद है। किसी भी स्थिति से निपटने को तैयार है। बताया गया की कल शाम से ही बाढ़ का पानी में बढ़ोतरी के देखते हुए रात भर बेलवा घाट पर अधिकारी अपने कर्मियों के साथ मौजूद है। मुखिया चंदन पासवान ने बताया है कि बागमती नदी के जलस्तर में आज शाम को अगर वृद्धि होगी तो नरकटिया बेलवा गांव के सैकड़ों लोग बाढ़ के पानी से तबाह हो जायेंगे। शिवहर- मोतिहारी स्टेट हाईवे का सड़क का आवागमन बाधित है।

खबरें और भी हैं…

Source link

Advertisement

Leave a Reply