सूर्य ग्रहण के दौरान भूलकर भी ना करें ये काम,वरना भुगतना होंगे बुरे परिणाम

0
113
Advertisement

Advertisement

साल का पहला सूर्य ग्रहण 10 जून को लगेगा । अमावस्या के दिन चंद्रमा जब सूर्य और पृथ्वी के बीच आ जाता है तो सूर्य ग्रहण की स्थिति बनती है। वहीं जब, चंद्रमा की छाया पूरी तरह से सूर्य को ढक लेती है, तब ये पूर्ण सूर्य ग्रहण कहलाता है।  शास्त्रों के अनुसार सूर्य ग्रहण के समय क्या काम करने से बचना चाहिए नहीं तो आप को नुकसान हो सकता है।

हिन्दू पंचांग के अनुसार 10 जून को इस साल का पहला सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse) लगने जा रहा है। यह पूर्ण सूर्य ग्रहण है। अमावस्या के दिन जब चंद्रमा (Moon) , सूर्य और पृथ्वी (sun and earth) की बीच आता है तो उस स्थिति को सूर्य ग्रहण कहा जाता है। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार हर ग्रहण का अपना अलग महत्व होता है और यह मानव जीवन को भी प्रभावित करता है। हालांकि भारत (India) में आंशिक सूर्य ग्रहण ही है। इसलिए सूतक काल मान्य नहीं है। दरअसल यहा सूर्यग्रहण इस सदी का दूसरा सबसे लंबा सूर्य ग्रहण है। यह चंद्र ग्रहण के मात्र 16 दिन बाद लग रहा है और अगला चंद्र ग्रहण 5 जुलाई को फिर से लगने वाला है। इसके बाद मौजूदा वर्ष के अंत में एक और सूर्य ग्रहण होगा। आइए आपको बताते हैं कि शास्त्रों के अनुसार सूर्य ग्रहण के समय क्या काम करने से बचना चाहिए…

सूर्य ग्रहण कब से कब तक लगेगा (how long will the solar eclipse take)
10 जून को ग्रहण गुरुवार की दोपहर 1 बजकर 42 मिनट पर लगेगा और 6 बजकर 41 मिनट तक रहेगा. सूर्य ग्रहण से 12 घंटे पहले सूतक काल शुरू हो जाता है। ये सूर्य ग्रहण उत्तरी अमेरिका, यूरोप, उत्तरी कनाडा और रूस और एशिया में आशिंक रूप से दिखाई देगा। इस ग्रहण का भारत में कोई प्रभाव नहीं दिखेगा। इसलिए धार्मिक कार्य होंगे।

ग्रहण में न करें ये काम (Do not do this work in eclipse)
1 . सूर्य ग्रहण के दिन सूतक काल में कुछ भी नहीं खाना चाहिए। मान्यता है कि इससे नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। सूर्य ग्रहण के सूतक काल में किसी सुनसान जगह से बिल्कुल भी न गुजरें क्योंकि इस समय नकारात्मक शक्तियां अत्यंत प्रभावी हो जाती हैं।
2. सूर्य ग्रहण के समय में किसी भी तरह की पूजा नहीं करनी चाहिए। भगवान की मूर्तियों दूषित हो जाती है।
3. सूर्य ग्रहण का सूतक लगने पर किसी भी शुभ काम को प्रारंभ न करें। आपको इसके शुभ परिणाम प्राप्त नहीं होंगे।
4 . सूर्य ग्रहण के समय में सूरज को नंगी आंखों से नहीं देखना चाहिए। इससे आपकी आंखें खराब हो सकती हैं। इसलिए दूरबीन, टेलीस्कोप, ऑप्टिकल कैमरा व्यूफाइंडर से सूर्य ग्रहण को देखना सुरक्षित है।
5 . ग्रहण के समय में गर्भवती महिलाओं को खाना- पीने की चीजें नहीं खाना चाहिए। इसके अलावा सूईं धागे का प्रयोग नहीं करना चाहिए।
6 . भारत में ग्रहण का प्रभाव देखने को नहीं मिलेगा फिर भी ज्योतिषों के मुताबिक गर्भवती महिलों को सावधानी बरतने और कुछ कार्यों को नहीं करने की सलाह दी गई है।
7 . ग्रहण के समय से पहले स्नान कर लेना चाहिए। इस दौरान जितना हो सके प्रभु को याद करें। देवी देवताओं की मूर्तिया छूना नहीं चाहिए।
8 . सूर्य मंत्रों का जाप करना चाहिए।
9 . ग्रहण काल में क्रोध, किसी की निंदा नहीं करना चाहिए।
10 . ग्रहण के दौरान लोगों को पानी पीने से भी बचना चाहिए। ग्रहण खत्म होने तक भोजन नहीं पकाया जाता है।
11 . सूर्य ग्रहण के दौरान फूल, पत्ते, लकड़ी आदि नहीं तोड़ने चाहिए।
12 . इस दिन न बाल धोने चाहिए ना ही वस्त्र।
13 . सर्यग्रहण के दरम्यान उधार लेन-देन से बचना चाहिए. उधार लेने से दरिद्रता आती है और उधार देने से लक्ष्मी नाराज होती हैं।

  • 2009 से लगातार जारी समाचार पोर्टल webkhabar.com अपनी विशिष्ट तथ्यात्मक खबरों और विश्लेषण के लिए अपने पाठकों के बीच जाना जाता है।





Source link

Advertisement

Leave a Reply