हरदोई में पूर्व मंत्री के घर नकली खाद के खेल का खुलासा, पोता समेत 5 पर केस दर्ज

0
23
Advertisement

Advertisement
रिपोर्ट- आशीष मिश्रा

हरदोई. उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में कृषि विभाग की टीम ने बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री रहे स्वर्गीय शारदा भक्त सिंह की कोठी में नकली खाद बनाने के खेल का खुलासा किया. सिटी मजिस्ट्रेट सदानंद गुप्ता के नेतृत्व में टीम ने काला दानेदार, सफेद महीन दानेदार, फेरस सल्फेट, सफेद सीमेंट पाउडर बरामद किया. इस मामले में पूर्व मंत्री के पौत्र समेत पांच लोगों के विरुद्ध शहर कोतवाली में आवश्यक वस्तु अधिनियम की धारा 3 /7 के तहत एफआईआर दर्ज कराने की तैयारी है. कृषि विभाग ने बरामद सामग्री को अपने कब्जे में लेकर सैम्पल को जांच के लिए भेजा है. वहीं नकली खाद कारखाना के संचालक से वैधानिक दस्तावेज मांगे गए हैं.

शहर के कोतवाली इलाके में नकली खाद बनाने की शिकायत पर शुक्रवार की देर रात सिटी मजिस्ट्रेट सदानंद गुप्ता के नेतृत्व में कृषि विभाग व पुलिस अधिकारियों की टीम छोटा चौराहा स्थित प्रताप भवन में पहुंची. साई निवास प्रताप भवन बीजेपी के वरिष्ठ नेता और 1967 में संविद सरकार और 1977 में जनता पार्टी की सरकार में पूर्व मंत्री रहे स्वर्गीय शारदा भक्त सिंह का है. उनके निधन के बाद उसमें उनके पौत्र सुरेंद्र सिंह उर्फ सोनू रहते हैं. देर रात हुई इस छापेमारी में अधिकारियों की टीम को मौके पर एक दुकान में टड़ियावां के आशा गांव के प्रेम प्रकाश, अनंतराम, अरविंद व शाहाबाद के नारायणपुर गांव के नन्हें अवैध रूप से उर्वरक का निर्माण व पैकिंग करते मिले.

जिला कृषि अधिकारी उमेश कुमार साहू ने बताया कि इन व्यक्तियों से जब उर्वरक निर्माण के संबंध में जानकारी चाही गई तो उन्होंने बताया कि सुरेंद्र सिंह उर्फ सोनू उर्वरक निर्माण, पैकिंग करा रहे हैं. टीम ने सुरेंद्र सिंह उर्फ सोनू से निर्माण व पैकिंग कार्य संबंधी अभिलेख मांगे गए जिसे वह मौके पर नहीं दिखा सके. जिसके बाद छापेमारी टीम ने प्रथम दृष्टया उर्वरक निर्माण और पैकिंग को संदिग्ध मानते हुए उक्त दुकान को सीज कर दिया. दुकान में एक पैकिंग मशीन, एक इलेक्ट्रॉनिक कांटा, एक बैंड सीलर, इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस, रुधारा बायोटेक ब्रांड के खाली प्रिंटेड पैकेट लगभग एक हजार छोटे बड़े पैकेट मिले हैं. इसके अलावा 49 बोरी काला दानेदार डीएपी के समान, फेरस सल्फेट बनाने हेतु 10 बोरी सफेद महीन दानेदार, 53 बोरी फेरस सल्फेट, पांच बोरी सफेद सीमेंट मिला है जिसे सीज कर दिया गया.

जिसके बाद कृषि अधिकारी ने आवश्यक वस्तु अधिनियम की धारा 3 /7 के तहत नकली खाद फैक्ट्री के आरोपी संचालक सुरेंद्र सिंह उर्फ सोनू के अलावा मौके पर मिले प्रेम प्रकाश, अनंतराम, अरविंद, नन्हे के विरुद्ध विभिन्न धाराओं में शहर कोतवाली में एफआईआर दर्ज कराने की कार्रवाई करने में जुटे हैं. इसके अलावा सभी नमूनों को प्रयोगशाला भेजा जाएगा जिसकी परीक्षण रिपोर्ट के बाद सभी के खिलाफ अग्रिम कार्रवाई की जायेगी.

Tags: Hardoi News, UP news

Source link

Advertisement

Leave a Reply