Advertisement

Advertisement
Vodafone Idea के एक बड़े अधिकारी ने गुरुवार को कहा कि कर्ज डूबी कंपनी को उम्मीद है कि वर्तमान में 4 जी सर्विस के मुकाबले में ज्यादा डाटा के साथ 5 जी की कीमत प्रीमियम पर होगी। वोडाफोन आइडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर रविंदर टक्कर ने एक अर्निंग कॉल के दौरान कहा कि कंपनी ने हाल ही में हुई नीलामी में स्पेक्ट्रम हासिल करने के लिए एक बड़ी रकम खर्च की है, जिसमें 5G सर्विस के लिए प्रीमियम चार्ज करने की जरूरत है। ऐसे में उम्मीद है कि इस साल के आखिर तक मोबाइल फोन सर्विस के लिए कुल टैरिफ बढ़ जाएगा।”इस तथ्य को देखते हुए कि स्पेक्ट्रम पर काफी पैसा खर्च किया गया है, हम मानते हैं कि 5G की कीमत 4G के प्रीमियम पर होनी चाहिए। आप इसे प्रीमियम पर कीमत दे सकते हैं, लेकिन साफ तौर पर उस प्रीमियम के अंदर आपके पास ऐसी स्थिति हो सकती है जहां एक 5G में मिलने वाली एक्स्ट्रा बैंडविड्थ को देखते हुए आपको मिलने वाली गीगाबाइट की संख्या ज्यादा है क्योंकि आप आमतौर पर ज्यादा खपत करेंगे।” उन्होंने कहा कि 5जी नेटवर्क पर डाटा खपत में ग्रोथ यूजर्स द्वारा विकसित और अपनाए गए इस्तेमाल के मामलों पर निर्भर करेगा

Vodafone Idea ने 18,800 करोड़ रुपये का स्पेक्ट्रम खरीदा है, जिसमें 17 प्राथमिकता वाले सर्किल में मिड बैंड में रेडियो वेव्स और 5जी सर्विस के लिए 16 सर्किल्स में 26 गीगाहर्ट्ज बैंड में स्पेक्ट्रम शामिल हैं। कंपनी ने आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और पंजाब के तीन सर्किल में अतिरिक्त 4जी स्पेक्ट्रम भी प्राप्त किया।

ताजा स्पेक्ट्रम बोली के चलते कंपनी पर 1,680 करोड़ रुपये की वार्षिक किस्त देयता जोड़ी है। Vodafone Idea ने अपने कंसोलिडेटेड नुकसान की मामूली कमी को जून तिमाही के लिए 7,296.7 करोड़, एक साल पहले की अवधि की तुलना में, क्योंकि टैरिफ बढ़ोतरी ने इसकी प्राप्तियों को बढ़ावा दिया। टेलीकॉम कंपनी का घाटा एक साल पहले की तिमाही में 7,319.1 करोड़ रुपये है। संचालन से वोडाफोन आइडिया का रेवेन्यू 30 जून, 2022 की आखिरी तिमाही में बढ़कर लगभग 10,410 करोड़ रुपये हो गया है जो कि एक साल पहले की अवधि से लगभग 14 प्रतिशत बढ़त है।

Source link

Advertisement

Leave a Reply