5 साल बाद दिल्ली में खेला जाएगा टेस्ट मैच, WTC फाइनल में पहुंचने के लिए करो या मरो की सीरीज

0
36
Advertisement

Advertisement
नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलिया की टीम जब अगले साल फरवरी-मार्च में भारत दौरे पर आएगी तो दिल्ली को पांच साल से ज्यादा समय के बाद टेस्ट मैच की मेजबानी का मौका मिल सकती है। बाकी तीन टेस्ट मैचों की मेजबानी के लिए जिन अन्य जगहों को चुना जा सकता है, उनमें अहमदाबाद, धर्मशाला और चेन्नई शामिल हैं। यह श्रृंखला बेहद महत्वपूर्ण है क्योंकि भारत के लिए यह दूसरी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) चक्र के अंतिम चार मैच होंगे। असल में भारत को फाइनल में पहुंचने के लिए ऑस्ट्रेलिया को 4-0 से हराना होगा जो कि रोहित शर्मा की अगुवाई वाली टीम के लिए बेहद चुनौतीपूर्ण होगा।भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पारंपरिक रूप से चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला होती रही है, लेकिन 2024 से शुरू होने वाले अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद के अगले भविष्य के दौरा कार्यक्रम (एफटीपी) में यह पांच मैचों की श्रृंखला होगी। भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के रोटेशन फार्मूला के अनुसार दिल्ली को टेस्ट मैच की मेजबानी मिलना तय है। दिल्ली में आखिरी टेस्ट मैच श्रीलंका के खिलाफ दिसंबर 2017 में खेला गया था।

बीसीसीआई के एक सीनियर अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर कहा, ‘दिल्ली को चार टेस्ट मैचों में से दूसरे टेस्ट मैच की मेजबानी मिल सकती है। दौरा एवं कार्यक्रम समिति की बैठक के बाद मैचों का कार्यक्रम सामने आ जाएगा। धर्मशाला जिसने मार्च 2017 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपने एकमात्र टेस्ट मैच की मेजबानी की थी उसे आगामी श्रृंखला में तीसरे टेस्ट मैच की मेजबानी मिल सकती है।’

ऑस्ट्रेलिया दौरे की शुरुआत चेन्नई या हैदराबाद में कर सकता है क्योंकि बेंगलुरु ने इस साल के शुरू में श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट मैच की मेजबानी की थी। वह दिन रात्रि टेस्ट मैच था। अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में चौथा और अंतिम टेस्ट मैच आयोजित किया जा सकता है। अभी यह फैसला किया जाना बाकी है कि इन चार टेस्ट मैचों में से कौन सा मैच दिन रात्रि का होगा।

Source link

Advertisement

Leave a Reply