6 साल की उम्र में ऑस्कर जीतने वाली Shirley Temple को Google ने Doodle के जरिए किया याद

0
191
Advertisement

Advertisement
Google का आज 9 जून का Doodle हॉलीवुड चाइल्ड एक्ट्रेस के रूप में पहचान बनाने वाली Shirley Temple को समर्पित है। दरअसल, साल 2015 में आज ही के दिन सांता मोनिका हिस्ट्री म्यूज़ियम में “Love, Shirley Temple” की शुरुआत हुई थी, जिसमें उनसे जुड़ी कई चीज़ों को म्यूज़ियम में रखा गया था। इसी अवसर पर आज गूगल ने अपने डूडल के जरिए Shirley Temple को याद किया है। बता दें, Shirley Temple की पहचान केवल चाइल एक्ट्रेस तक ही सीमित नहीं है बल्कि उन्हें एक ड्रांसर और डिप्लोमेट के रूप में भी जाना जाता है। 22 वर्ष की उम्र में उन्होंने फिल्मी करियर से सन्यास लेकर युवावस्था में राजनीतिक करियर की शुरुआत की और संयुक्त राज्य अमेरिका की राजदूत के रूप में भी अपनी सेवाएं दी।

आज जैसे ही आप कुछ सर्च करने के लिए Google खोलेंगे, तो आपको एक Doodle नज़र आएगा। यह डूडल Shirley Temple को समर्पित है। इस डूडल में Shirley Temple की तीन छवियों को शामिल किया गया है, जो कि उनके जीवन के महत्वपूर्ण पड़ावों को प्रदर्शित करती हैं। इन तीन तस्वीरों में एक एनिमेटिड तस्वीर है, जिसमें छोटी शर्ले टेम्पल को डांस करते हुए दिखाया गया है। जबकि बाकि दो तस्वीर में आप देख सकते हैं कि एक में शर्ले डिप्लोमेट के रूप में लोगों को संबोधित कर रही हैं, वहीं दूसरी तस्वीर में उन्हें ऑस्कर जीतते हुए दिखाया गया है।
 

Shirley Temple कौन थी?

Shirley Temple को एक अमेरिकी एक्ट्रेस, डांसर और डिप्लोमेट के रूप में जाना जाता है। शर्ले ने सन् 1932 में तीन साल की उम्र से अपने हॉलीवुड करियर की शुरुआत की थी, वहीं 6 साल की उम्र में उन्हें एक बाल कलाकार के रूप में उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए उसे फरवरी 1935 में ऑस्कर अवॉर्ड से भी सम्मानित किया गया। हालांकि, किशोरावस्था तक पहुंचते-पहुंचते उनकी बॉक्स ऑफिस लोकप्रियता थोड़ी कम हो गई। अंत में 1950 में 22 साल की उम्र में उन्होंने फिल्मी करियर से सन्यास ले लिया। इसके बाद उन्होंने कई समाजसेवी कार्यों में अपनी सेवाएं थी। वहीं साल 1969 में उन्होंने अपने राजनैतिक करियर की शुरुआत की। एक वयस्क के रूप में, उन्हें घाना और चेकोस्लोवाकिया के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका की राजदूत नियुक्त किया गया था और उन्होंने संयुक्त राज्य अमेरिका के विदेश विभाग में प्रोटोकॉल की पहली प्रमुख बनकर भी अपनी सेवाएं दी। साल 2014 में उनका निधन अमेरिका में हुआ था। वहीं, साल 2015 में उनसे जुड़ी यादों को ताज़ा करने के लिए सांता मोनिका हिस्ट्री म्यूज़ियम में “Love, Shirley Temple” की शुरुआत की गई थी।
  

लेटेस्ट टेक न्यूज़, स्मार्टफोन रिव्यू और लोकप्रिय मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव ऑफर के लिए गैजेट्स 360 एंड्रॉयड ऐप डाउनलोड करें और हमें गूगल समाचार पर फॉलो करें।

संबंधित ख़बरें

Source link

Advertisement

Leave a Reply