Advertisement

Advertisement
ख़बर सुनें

बिहार के पूर्णिया जिले से एक चौंकाने वाली घटना सामने आई है। यहां एक बेटे ने अपने बुजुर्ग पिता पर गोली चला दी। पिता का कसूर सिर्फ इतना था कि उन्होंने बेटे को ड्रग्स खरीदने के लिए पैसे देने से मना कर दिया था। इसके बाद आरोपी ने घर के बाहर खड़ी बाइक को भी आग के हवाले कर दिया। इस मामले में पुलिस ने बताया है कि आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया हैं। वहीं पीड़ित पिता किसी तरह से अपनी जान बचाने में कामयाब रहे। 

पुलिस के मुताबिक, आरोपी रंजन कुमार नशे का आदी है। घटना वाले दिन उसने अपने पिता हीरालाल साह से ड्रग्स खरीदने के लिए पैसे मांगे। हालांकि, हीरालाल ने उसे पैसे देने से मना कर दिया। इसके बाद बेटा रंजन आगबबूला हो गया और उसने पिता पर ही गोली चला दी। इसके बाद किसी तरह वह अपनी जान बचाने में कामयाब रहे। वह भाग कर पुलिस थाने पहुंचे और पुलिस को घटना की जानकारी दी। 

पुलिस ने आरोपी को किया गिरफ्तार 
पीड़ित पिता की सूचना पर पुलिस आरोपी के घर पहुंची और उसे गिरफ्तार कर लिया। पुलिस अधिकारियों ने बताया, घर से पिस्टल, जली हुई मोटरसाइकिल, कारतूस, मोबाइल फोन व अन्य वस्तुएं बरामद की गई हैं।

विस्तार

बिहार के पूर्णिया जिले से एक चौंकाने वाली घटना सामने आई है। यहां एक बेटे ने अपने बुजुर्ग पिता पर गोली चला दी। पिता का कसूर सिर्फ इतना था कि उन्होंने बेटे को ड्रग्स खरीदने के लिए पैसे देने से मना कर दिया था। इसके बाद आरोपी ने घर के बाहर खड़ी बाइक को भी आग के हवाले कर दिया। 

इस मामले में पुलिस ने बताया है कि आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया हैं। वहीं पीड़ित पिता किसी तरह से अपनी जान बचाने में कामयाब रहे। 

पुलिस के मुताबिक, आरोपी रंजन कुमार नशे का आदी है। घटना वाले दिन उसने अपने पिता हीरालाल साह से ड्रग्स खरीदने के लिए पैसे मांगे। हालांकि, हीरालाल ने उसे पैसे देने से मना कर दिया। इसके बाद बेटा रंजन आगबबूला हो गया और उसने पिता पर ही गोली चला दी। इसके बाद किसी तरह वह अपनी जान बचाने में कामयाब रहे। वह भाग कर पुलिस थाने पहुंचे और पुलिस को घटना की जानकारी दी। 

पुलिस ने आरोपी को किया गिरफ्तार 

पीड़ित पिता की सूचना पर पुलिस आरोपी के घर पहुंची और उसे गिरफ्तार कर लिया। पुलिस अधिकारियों ने बताया, घर से पिस्टल, जली हुई मोटरसाइकिल, कारतूस, मोबाइल फोन व अन्य वस्तुएं बरामद की गई हैं।

Source link

Advertisement

Leave a Reply