Advertisement

Advertisement
ब्रिटेन में कॉम्पिटिशन और मार्केट ऑथोरिटी (CMA) ने कहा कि वह Apple Inc और Google के मोबाइल ब्राउजर्स के मार्केट की जांच करने का प्लान बना रहा था। इसके साथ ही साथ आईफोन निर्माता ने अपने ऐप स्टोर के जरिए क्लाउड गेमिंग पर बैन लगा दिया था।कॉम्पिटिशन और मार्केट ऑथोरिटी (CMA) ने शुक्रवार को कहा कि वह Alphabet Inc के Google के विरोध में ऐप स्टोर पेमेंट के तरीकों पर कार्रवाई भी कर रहा था। उनका कहना है कि दोनों टेक दिग्गजों का मोबाइल इकोसिस्टम पर प्रभावी एकाधिकार था। जिसने उन्हें मोबाइल डिवाइस पर ऑपरेटिंग सिस्टम, ऐप स्टोर और वेब ब्राउजर पर एक मजबूत पकड़ प्रदान की।

CMA के सीफ एक्जीक्यूटिव एंड्रिया कोसेली (Andrea Coscelli) ने मोबाइल इकोसिस्टम पर एक रिपोर्ट छपने के बाद कहा कि “जब मोबाइल फोन इस्तेमाल करने की बात होती है तो Apple और Google सभी के कार्ड होल्ड करते हैं।” आगे कहा कि “उनकी कई सर्विस और प्रोडक्ट तो अच्छे हैं हीं, बल्कि मोबाइल इकोसिस्टम उनकी मजबूत पकड़ उन्हें कॉम्पिटिटर्स को बंद करने, ब्रिटिश टेक सेक्टर को पीछे रखने और पसंद को सीमित करने की अनुमति देता है।”

उन्होंने कहा कि बीते साल ब्रिटेन में सभी मोबाइल वेब ब्राउजिंग का 97 प्रतिशत Apple या Google के ब्राउजर इंजन द्वारा ऑपेरट किया गया था। इसके अलावा Apple ने iPhone पर अपने खुद के ब्राउजर के ऑप्शन पर प्रतिबंध लगाया। CMA ने कहा कि उनको चिंता था कि प्रतिद्वंद्वी ब्राउजर्स के लिए Apple की Safari से खुद को अलग दिखाने की क्षमता सीमित थी जैसे कि स्पीड और फंक्शन जैसे फीचर्स पर। 

Apple ने एक स्टेटमेंट में कहा कि उसने अपने इकोसिस्टम के जरिए यूजर्स के प्यार और डेवलपर्स के लिए एक बड़ा बिजनेस अवसर प्रदान करके एक सेफ और भरोसे वाला एक्सपीरियंस पैदा किया है।

गूगल ने कहा कि अपने एंड्रॉइड ऑपरेटिंग सिस्टम पर चलने वाले स्मार्टफोन्स, यूजर्स और बिजनेस को किसी भी अन्य मोबाइल प्लेटफॉर्म के मुकाबले ज्यादा ऑप्शन प्रदान करते हैं। गूगल का गूगल प्ले स्टोर लाखों ऐप्स के लिए लॉन्चपैड रहा है। Google के प्रवक्ता ने कहा कि “हम लगातार रिव्यू करते हैं कि हम डेवलपर्स का सबसे अच्छे तरीके से सपोर्ट कैसे कर सकते हैं और आखिर में CMA के फीडबैक पर तुरंत प्रतिक्रिया दी।” उन्होंने कहा कि “हम रिपोर्ट को रिव्यू करेंगे और CMA के साथ आगे बढ़ना जारी रखेंगे।”

Source link

Advertisement

Leave a Reply