Childrens Day Speech : short easy and simple speech on Children Day bal diwas jawaharlal nehru birthday

0
48
Advertisement

Advertisement
Childrens Day Speech : 14 नवंबर बाल दिवस का दिन परिवार, समाज और देश में बच्चों के महत्व को याद दिलाता है। बाल दिवस के दिन बच्चों को प्रोत्साहित करने के लिए स्कूलों में कई तरह के कार्यक्रम व प्रतियोगिताएं आयोजित होती हैं। भाषण व निबंध प्रतियोगिताएं इनमें प्रमुख रहती हैं। विजयी बच्चों को इनाम भी मिलता है। अगर आप स्कूल में भाषण प्रतियोगिता में हिस्सा लेना चाहते हो तो आप बाल दिवस के मौके पर कुछ इस तरह का भाषण बोल सकते हैं।

Childrens Day Speech : बाल दिवस पर भाषण का उदाहरण

आदरणीय महानुभाव, प्रधानाचार्य जी, अध्यापक व अध्यापिकाएं और मेरे सहपाठियों को सुप्रभात.

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि आज हम यहां देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू के जन्मदिन यानी बाल दिवस को मनाने के लिए जुटे हैं। मैं इस मौके पर भाषण देना चाहती/चाहती हूं। हर साल 14 नवम्बर को पूरे देश में बाल दिवस के रुप में मनाया जाता है। 14 नवम्बर जवाहरलाल नेहरु का जन्म दिवस है। उनका जन्मदिन बाल दिवस के रूप में इसलिए मनाया जाता है क्योंकि वह बच्चों से बहुत प्यार और स्नेह करते थे। उन्होंने हमेशा बच्चों को बहुत महत्व दिया। बच्चों के प्रति उनके प्यार और लगाव के कारण बच्चे उन्हें चाचा नेहरु कहते थे।  वे अपने जन्मदिन पर बच्चों की मुस्कुराहट में खो जाना चाहते थे। उनके साथ समय बिताते हुए वह स्वयं बच्चे बन जाते थे।

चाचा नेहरू हमेशा कहते थे कि देश के स्वर्णिम विकास में बच्चे की अहम भागीदारी है। बच्चे ही देश का भविष्य हैं।  इसलिए 14 नवंबर का दिन बाल दिवस के तौर प भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू और देश के बच्चों को समर्पित किया गया है।

देखें बाल दिवस पर बच्चों के लिए ड्राइंग के उदाहरण

पंडित नेहरु कहते थे- ‘आज के बच्चे कल के भारत का निर्माण करेंगे। बच्चे ही इस देश का भविष्य है। इसलिए ये जरूरी है कि उनकी शिक्षा एवं कल्याण पर विशेष ध्यान दिया जाए। हम जितनी बेहतर तरह से बच्चों की देखभाल करेंगे राष्ट्र निर्माण भी उतना ही बेहतर होगा।’

बाल दिवस समारोह का आयोजन देश के भविष्य के निर्माण में बच्चों के महत्व को बताता है। बच्चे राष्ट्र की बहुमूल्य सम्पत्ति होने के साथ ही भविष्य और कल की उम्मीद हैं, इसलिए उन्हें उचित देखरेख और प्यार मिलना चाहिए। 

भारत के आजाद होने के बाद बच्चों के विकास, उनकी शिक्षा, स्वास्थ्य को लेकर सरकार ने कई योजनाएं बनाई हैं। लेकिन आज भी बहुत से बच्चों को उनका अधिकार नहीं मिल पाता है। बाल दिवस का अर्थ पूर्ण रुप से तब तक सार्थक नहीं हो सकता, जब तक हमारे देश में हर बच्चे को उसके मौलिक बाल अधिकारों की प्राप्ति ना हो जाए। बाल शोषण और बाल मजदूरी का पूरी तरह से खात्मा होना चाहिए। आर्थिक कारणों से कोई बच्चा शिक्षा पाने से वंचित नहीं रहना चाहिए। बाल कल्याण के लिए चल रही सभी योजनाओं का लाभ बच्चों तक पहुंचना चाहिए। बाल दिवस के अवसर पर हम सब को मिलकर बाल अधिकारों के प्रति जागरुकता फैलानी चाहिए।

मैं अपनी स्पीच खत्म करूं, उससे पहले मैं चाचा नेहरू की प्रसिद्ध लाइन कहना चाहता/ चाहती हूं “बच्चे राष्ट्र के निर्माता हैं’

मेरी तरफ से आप सभी को हैप्पी चिल्ड्रंस डे

धन्यवाद

बाल दिवस पर दें यह छोटा और सरल भाषण, मिलेगा इनाम

Children’s Day speech Tips – ऐसे तैयार करें प्रभावी भाषण

–  सबसे पहले बाल दिवस का महत्व बता सकते हैं। यह क्यों मनाया जाता है। जवाहरलाल नेहरू के जीवन के बारे में बता सकते हैं।

– भाषण को छोटा रखें। उसकी भाषा बोर होने वाली न हो। आसान शब्‍दों का इस्‍तेमाल करें। 

– भाषण में बच्चों की वर्तमान स्थिति, समस्याओं का जिक्र करें। उन मुश्किलों के निदान के बारे में भी बताएं।

– भाषण में बच्चों के लिए नेहरू जी के कथन डाल सकते हैं। नेहरु जी के जीवन की कुछ दिलचस्प बातों का उल्लेख कर सकते हैं।

–  स्पीच देने से पहले कई बार उसकी प्रैक्टिस करें।

– स्पीच के अंत में कोई कविता, शायरी या जवाहरलाल नेहरू के प्रेरणादायक वाक्य बता सकते हैं।

Children’s Day quotes 2022: बाल दिवस के मौके पर पढ़ें पंडित जवाहर लाल नेहरू के विचार

Speech ideas : इन विषयों पर निबंध लिख सकते हैं या भाषण दे सकते हैं

– जवाहर लाल नेहरू का आजादी व देश के विकास में योगदान।

– बच्चों के लिए जवाहर लाल नेहरू का योगदान।

– क्यों जवाहर लाल नेहरू को कहा जाता था चाचा नेहरू।

– पहले प्रधानमंत्री पंडित नेहरू का कार्यकाल

– पंडित नेहरु के नेतृत्व में भारत।

Source link

Advertisement

Leave a Reply