Advertisement

सार

भारत जोड़ो यात्रा करीब साढ़े पांच महीने में कश्मीर पहुंचेगी। 3500 किलोमीटर की यात्रा 10 से 12 राज्यों से होकर गुजरेगी। इस दौरान वरिष्ठ नेता वाहनों से चलेंगे।

Advertisement
ख़बर सुनें

कांग्रेस जनता से अपना संपर्क बढ़ाने के लिए कांग्रेस 2 अक्तूबर से कन्याकुमारी से भारत जोड़ो यात्रा शुरू कर रही है। इसके बहाने पार्टी न सिर्फ समान विचारधारा वाले दलों को साधना चाहती है, बल्कि सामाजिक और गैर राजनीतिक संस्थाओं को भी इसका भागीदार बनाना चाहती है। राहुल गांधी यात्रा की शुरुआत करेंगे।भारत जोड़ो यात्रा करीब साढ़े पांच महीने में कश्मीर पहुंचेगी। 3500 किलोमीटर की यात्रा 10 से 12 राज्यों से होकर गुजरेगी। इस दौरान वरिष्ठ नेता वाहनों से चलेंगे। कांग्रेस पहली बार राष्ट्रीय स्तर पर पदयात्रा निकाल रही है। यात्रा के दौरान जगह-जगह नेता जनसभाएं और रैलियां करेंगे।

कांग्रेस को यात्रा की प्रेरणा आंध्र प्रदेश के राजशेखर रेड्डी, दिग्विजय सिंह की नर्मदा यात्रा और पूर्व पीएम चंद्रशेखर की कन्याकुमारी से दिल्ली यात्रा से मिली है।

कांग्रेस को समझ आया हिंदी का महत्व
कांग्रेस में लंबे समय से अंग्रेजी का बोलबाला रहा है। उदयपुर चिंतन शिविर में कांग्रेस ने हिंदी का महत्व समझते हुए पहली बार घोषणा का प्रस्ताव हिंदी में जारी किया। पार्टी के एक नेता का कहना है कि देश में करीब 250 सीट हिंदी राज्यों की हैं, जहां सीधे तौर पर भाजपा से मुकाबला है।

विस्तार

कांग्रेस जनता से अपना संपर्क बढ़ाने के लिए कांग्रेस 2 अक्तूबर से कन्याकुमारी से भारत जोड़ो यात्रा शुरू कर रही है। इसके बहाने पार्टी न सिर्फ समान विचारधारा वाले दलों को साधना चाहती है, बल्कि सामाजिक और गैर राजनीतिक संस्थाओं को भी इसका भागीदार बनाना चाहती है। राहुल गांधी यात्रा की शुरुआत करेंगे।

भारत जोड़ो यात्रा करीब साढ़े पांच महीने में कश्मीर पहुंचेगी। 3500 किलोमीटर की यात्रा 10 से 12 राज्यों से होकर गुजरेगी। इस दौरान वरिष्ठ नेता वाहनों से चलेंगे। कांग्रेस पहली बार राष्ट्रीय स्तर पर पदयात्रा निकाल रही है। यात्रा के दौरान जगह-जगह नेता जनसभाएं और रैलियां करेंगे।

कांग्रेस को यात्रा की प्रेरणा आंध्र प्रदेश के राजशेखर रेड्डी, दिग्विजय सिंह की नर्मदा यात्रा और पूर्व पीएम चंद्रशेखर की कन्याकुमारी से दिल्ली यात्रा से मिली है।

कांग्रेस को समझ आया हिंदी का महत्व

कांग्रेस में लंबे समय से अंग्रेजी का बोलबाला रहा है। उदयपुर चिंतन शिविर में कांग्रेस ने हिंदी का महत्व समझते हुए पहली बार घोषणा का प्रस्ताव हिंदी में जारी किया। पार्टी के एक नेता का कहना है कि देश में करीब 250 सीट हिंदी राज्यों की हैं, जहां सीधे तौर पर भाजपा से मुकाबला है।

Source by [author_name]

Advertisement

Leave a Reply