COVID-19 vaccination mandatory for term life insurance, new rules from Insurance companies| Term Insurance चाहिए तो Vaccination Certificate दिखाओ, बीमा कंपनियों ने सख्त किए नियम

0
108
Advertisement

नई दिल्ली: Covid Vaccination: कोरोना महामारी की दूसरी लहर के बीच अब इंश्योरेंस लेना आसान नहीं रह गया है. कई बीमा कंपनियों ने अब टर्म इंश्योरेंस के लिए वैक्सीनेशन की शर्त रख दी है, अगर वैक्सीनेशन नहीं तो टर्म इंश्योरेंस भी नहीं मिलेगा. दरअसल कोरोना महामारी की दूसरी लहर में इंश्योरेंस कंपनियों के क्लेम में जबरदस्त इजाफा हुआ है, इसलिए बीमा कंपनियों ने अपना रिस्क मैनेजमेंट सख्त कर दिया है. इसलिए अब किसी भी आम आदमी को टर्म इंश्योरेंस लेने के लिए थोड़ी मशक्कत करनी होगी. 

Advertisement

टर्म इंश्योरेंस चाहिए तो वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट दिखाओ

Max Life और Tata AIA जैसी इंश्योरेंस कंपनियों ने लोगों से टर्म इंश्योरेंस लेते वक्त अनिवार्य रूप से वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट मांगना शुरू कर दिया है. The Economid Times में छपी रिपोर्ट के मुताबिक Max Life 45 से ऊपर के लोगों की तभी इंश्योरेंस पॉलिसी बेच रही है जब वो वैक्सीन सर्टिफिकेट दे रहे हैं. इसी तरह  Tata AIA भी सभी आयु वर्ग के लोगों को कम से कम एक वैक्सीन की डोज के बाद ही पॉलिसी जारी कर रही है. 

ICICI Prudential, Tata AIA and Aegon Life जैसी बीमा कंपनियों ने वैक्सीनेशन के बाद 7-15 दिन का कूलिंग ऑफ पीरियड भी रखा है. जहां नई पॉलिसी एप्लीकेशन को अस्थायी रूप से स्थगित किया जा रहा है. ICICI Prudential के प्रवक्ता ने ET को बताया कि कई बार ऐसा देखा गया है कि कोविड-19 के टीके लगने के बाद कुछ लोगों में अतिसंवेदनशीलता या दूसरे रिएक्शन सामने आते हैं.

बीमा कंपनियों का जवाब 

Tata AIA के प्रवक्ता ने The Economid Times को बताया कि हमारे पॉलिसीधारकों को उच्चतम स्तर की वित्तीय सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए, हम सुनिश्चित करते हैं कि उनके हितों की हर समय रक्षा की जाए. प्रवक्ता ने कहा कि हमारी नीतियां उभरती हुई वास्तविकताओं को दर्शाती हैं. हम अपनी कामों में में उपभोक्ता-केंद्रित होने के साथ-साथ विवेकपूर्ण भी बने हुए हैं. हालांकि Max Life ने इस मुद्दे पर कोई भी कमेंट अबतक नहीं दिया है. यानी उन लोगों को कंपनियां टर्म इंश्ंयोरेंस नहीं दे रही हैं जिन्होंने वैक्सीन की डोज नहीं ली है. 

सख्त किया रिस्क मैनेजमेंट 

दरअसल, कोरोना महामारी की वजह से लगभग सभी कंपनियों ने अंडरराइटिंग के नियम कड़े कर दिए गए हैं, कोविड की दूसरी लहर में लाइफ इंश्योरेंस कंपनियों के क्लेम में जबरदस्त बढ़ोतरी हुई है. कंपनियां अब अपने रिस्क मैनेजमेंट को और सख्त कर रही हैं. इस वजह से होम आइसोलेशन के जरिए भी लोग कोविड-19 नेगेटिव होते हैं तो 3 महीने तक किसी भी इंश्योरेंस कंपनी से टर्म इंश्योरेंस प्लान नहीं खरीद सकते. इसके अलावा टेलीमेडिकल की जगह अब टर्म इंश्योरेंस के लिए कंपनियां फुल मेडिकल टेस्ट पर ही जोर दे रही है. 

ये भी पढ़ें- El Salvador ने दी Bitcoin को मान्यता, बना दुनिया का पहला देश, लेन-देन में कर सकेंगे इस्तेमाल

LIVE TV

Source by [author_name]

Advertisement

Leave a Reply