Advertisement

Advertisement
ख़बर सुनें

हिमाचल प्रदेश में येलो अलर्ट के बीच भारी बारिश का दौर जारी है। धर्मशाला, कांगड़ा, मंडी, डलहौजी में वीरवार रात भर बादल झमाझम बरसे। धर्मशाला में सबसे अधिक 111 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई। पांवटा साहिब-शिलाई एनएच सहित 80 सड़कों पर आवाजाही ठप हो गई है। एनएच 21 मंडी-कुल्लू सात मील व हनोगी के पास बंद भूस्खलन से बंद हो गया है। सड़क पर वाहनों की लंबी कतारें लग गई हैं। प्रभावित है। यहां कई किलोमीटर तक ट्रैफिक जाम लग गया है। प्रदेश में भारी बारिश से 75 बिजली ट्रांसफार्मर और 35 पेयजल योजनाएं ठप हैं। राजधानी शिमला में भी बारिश का दौर जारी है।

शिमला सहित प्रदेश के कई क्षेत्रों में शुक्रवार सुबह से बूंदाबांदी जारी है। जिला सिरमौर के हेवना गांव में पहाड़ी गिरने से सड़क के निर्माण में जुटी एक एलएनटी मशीन दब गई है। चालक को कड़ी मशक्कत के बाद मशीन से बाहर निकालकर अस्पताल पहुंचाया गया है।

विस्तार

हिमाचल प्रदेश में येलो अलर्ट के बीच भारी बारिश का दौर जारी है। धर्मशाला, कांगड़ा, मंडी, डलहौजी में वीरवार रात भर बादल झमाझम बरसे। धर्मशाला में सबसे अधिक 111 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई। पांवटा साहिब-शिलाई एनएच सहित 80 सड़कों पर आवाजाही ठप हो गई है। एनएच 21 मंडी-कुल्लू सात मील व हनोगी के पास बंद भूस्खलन से बंद हो गया है। सड़क पर वाहनों की लंबी कतारें लग गई हैं। 

प्रभावित है। यहां कई किलोमीटर तक ट्रैफिक जाम लग गया है। प्रदेश में भारी बारिश से 75 बिजली ट्रांसफार्मर और 35 पेयजल योजनाएं ठप हैं। राजधानी शिमला में भी बारिश का दौर जारी है।

शिमला सहित प्रदेश के कई क्षेत्रों में शुक्रवार सुबह से बूंदाबांदी जारी है। जिला सिरमौर के हेवना गांव में पहाड़ी गिरने से सड़क के निर्माण में जुटी एक एलएनटी मशीन दब गई है। चालक को कड़ी मशक्कत के बाद मशीन से बाहर निकालकर अस्पताल पहुंचाया गया है।

Source link

Advertisement

Leave a Reply