Pfizer supports deployment of 400 oxygen beds in Delhi, 30-bed ICU facility in Mumbai | दिल्ली के अस्पताल को 400 ऑक्सीजन बेड देगी फाइजर, मुंबई को भी मिली 30 आईसीयू बेड की मदद

0
140
Advertisement
Photo:PFIZER

दिल्ली के अस्पताल को 400 ऑक्सीजन बेड देगी फाइजर, मुंबई को भी मिली 30 आईसीयू बेड की मदद

Advertisement

नयी दिल्ली। वैश्विक दवा कंपनी फाइजर ने सोमवार को कहा कि उसने दिल्ली के यमुना कोविड स्वास्थ्य सेवा केंद्र में 400 ऑक्सीजन की सुविधा वाले पलंग की व्यवस्था के लिए गैर सरकारी संगठन ‘डॉक्टर्स फोर यू’ के साथ साझेदारी की है। कंपनी ने गैर सरकारी संगठन को इसके लिए 4.5 करोड़ रुपए की वित्तीय सहायता प्रदान की जिसके जरिए अस्पताल में ऑक्सीजन की सुविधा वाले 400 पलंग और दूसरे चिकित्सीय उपकरणों एवं जरूरत की दूसरी चीजों की व्यवस्था की गयी। 

फाइजर इंडिया की इस मदद के अलावा उसकी परोपकार सेवा इकाई फाइजर फाउंडेशन ने भी गैर सरकारी संगठन ‘अमेरिकेयर्स’ को मुंबई के बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स के विशाल कोविड सेंटर में 30 पलंग वाली आईसीयू सुविधा की स्थापना के लिए चार करोड़ रुपए की वित्तीय सहायता दी है। 

डेटॉल के पहचान चिन्ह्र के स्थान पर नजर आयेंगे कोविड रक्षक

किटाणू और विषाणुओं से सुरक्षा देने के क्षेत्र में प्रमुख ब्रांड डेटॉल ने सोमवार को अपनी तरह का एक अनूठा अभियान शुरू किया जिसे ‘डेटाल सेल्यूट’ नाम दिया गया है। इसके तहत कंपनी ने पहली बार अपने प्रतीक चिन्ह्र के स्थान पर कोविड रक्षक की तस्वीर लगाई है। डेटॉल ने केवल इतना ही नहीं उस रक्षक की प्रेरक कहानी भी बताई है। कंपनी ने देशभर में ऐसी 100 कहानियों को तैयार किया है और निस्वार्थ रूप से लोगों की मदद करने वाले इन रक्षकों को सम्मान देते हुये उन्हें अपने हाथ धोने वाले ‘लिक्विड हैंडवाश पैक’ पर प्रदर्शित किया है। कंपनी ने इसके साथ ही एक वेबसाइट ‘डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डॉट डेटोल सैल्यूट्स डॉट कॉम’ भी जारी की हे। इसे पूरे देश के लोगों के लिये तैयार किया गया है जहां वे अपने कहानियों को साझा कर सकते हैं और वर्चुअल पैक बनाकर इसे पने सोशल मीडिया चैनलों पर साझा कर अपने बीच के कोविड रक्षकों को पहचान दिला सकते हैं। रेकिट, हेल्थ एण्ड न्यूट्रिशन के दक्षिण एशिया क्षेत्रीय मार्केटिंग डायरेक्टर दिलेन गांधी ने कहा, ‘‘एक रक्षक के तौर पर डेटॉल की विरासत को साथ लेते हुये ‘डेटॉल सैल्यूट्स’ विभिन्न कोरोना रक्षकों को श्रद्धाजंलि देने का हमारी तरीका है।’’

Source by [author_name]

Advertisement

Leave a Reply