Protect Health Insurance Policy After Changing Jobs

0
44
Protect Health Insurance Policy After Changing Jobs
Advertisement

Health Insurance After Changing Jobs : अगर आप नौकरी (Jobs) बदलने के बारे में प्लान बना रहे हैं, या कहीं नई नौकरी ज्वाइन करने जा रहे हैं, तो आपको अपने हेल्थ इंश्योरेंस कवर को लेकर चिंता जरूर रहती होगी. ऐसे में आपके सामने सबसे पहले यह सवाल आता होगा कि पुरानी कंपनी (Previous Company) से मिलने वाले हेल्थ इंश्योरेंस (Health Insurance) को छोड़ना पड़ेगा या इसे आप जारी रखा जा सकते हैं? तो हम आपके इस सवाल का जवाब इस खबर में देने जा रहे हैं. इससे जुड़े फंडे को ऐसे समझा जा सकता है. 

Advertisement

जॉब चेंज करते समय रखें ध्यान 

आज के समय में हेल्थ इंश्योरेंस (Health Insurance) सभी के लिए जरूरी हो गया है. अगर आप प्राइवेट या सरकारी जॉब में है, तो आपको हेल्थ इंश्योरेंस जरूर मिलता होगा. कई कंपनियां अपने कर्मचारियों को हेल्थ इंश्योरेंस कवर की सुविधा देती हैं. मेडिकल इमरजेंसी कभी आपको पहले से जानकारी देकर नहीं आती है. जो लोग नौकरी कर रहे हैं, या करने जा रहे हैं, उन्हें कंपनी से उनके परिवार और उनके अपने लिए हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी दी जाती है. लेकिन आपको दिक्कत तब आती है, जब आप अपना जॉब चेंज करते हैं. 

ये है इंश्योरेंस से जुड़ा नियम 

इंश्योरेंस रेगुलेटर इरडा (IRDAI) के नियमों के अनुसार, कोई भी कर्मचारी चाहे तो, अपने ग्रुप इंश्योरेंस कवर (Group Insurance Cover) को उसी बीमा कंपनी के इंडिविजुअल हेल्थ इंश्योरेंस प्लान (Individual Health Insurance Plan) में बदल सकता है. वहीं, अगर आप ऐसा नहीं करते हैं, तो नौकरी के अंतिम दिन ही ग्रुप इंश्योरेंस स्कीम के फायदे मिलना आपको बंद हो जाएंगे.

रखें जारी इंश्योरेंस पॉलिसी 

अगर आप पहली कंपनी से दूसरी कंपनी में जा रहे हैं, तो आपको हेल्थ इंश्योरेंस जारी रखने के लिए कुछ बातों का ध्यान रखना होगा. आपको दूसरी कंपनी में ग्रुप पॉलिसी को इंडिविजुल पॉलिसी में बदलने की जरूरत होती है. इसके लिए मौजूदा ग्रुप इंश्योरेंस कंपनी को यह जानकारी देनी होगी, कि आप कंपनी छोड़ने वाले हैं और ग्रुप इंश्योरेंस पॉलिसी को इंडिविजुल पॉलिसी में बदलना चाहते हैं. इंश्योरेंस को बदलने के लिए पुरानी कंपनी की सहमति जरूरी होती है. कंपनी से सहमति मिलने के बाद कुछ दिनों में इंश्योरेंस पॉलिसी को बदल दिया जाता है. आपको नोटिस पीरियड की आखिरी तारीख के कम से कम 30 दिन पहले ही ग्रुप हेल्थ इंश्योरेंस प्लान को इंडिविजुअल हेल्थ इंश्योरेंस प्लान में बदलने के लिए आवेदन कर देना होगा.

इंडिविजुअल हेल्थ इंश्योरेंस के फायदें

ग्रुप हेल्थ इंश्योरेंस प्लान को इंडिविजुअल हेल्थ इंश्योरेंस प्लान में बदलने के कई फायदे होते है. ग्रुप पॉलिसी के हिसाब से आपकी पर्सनल हेल्थ पॉलिसी के लिए वेटिंग पीरियड तय होता है. ग्रुप इंश्योरेंस पॉलिसी के पहले हो चुके कवरेज का क्रेडिट इंडिविजुअल मेंबर्स को मिलता है. 

ये भी पढ़ें- Import Duty On Pulses: होली से पहले सरकार ने दी बड़ी खुशखबरी, इस दाल पर इंपोर्ट ड्यूटी कर दी खत्म, मिलेगी राहत

Source

Advertisement

Leave a Reply