Advertisement

Advertisement
Rajasthan BSTC Pre DElEd Exam 2022: राजस्थान बीएसटीसी प्री डीएलएड परीक्षा 2022 के लिए आवेदन की प्रक्रिया अभी तक शुरू नहीं हो सकी है। ऐसे में डीएलएड सत्र में इस बार भी देरी होगी। प्रारंभिक शिक्षा में अध्यापक बनने के लिए आवश्यक दो साल के अध्यापक शिक्षा पाठ्यक्रम डीएलएड में प्रवेश के लिए यह परीक्षा होती है। राजस्थान बोर्ड कई दिन पहले तीनों स्ट्रीम का 12वीं का रिजल्ट घोषित कर चुका है। इसके बाद भी डीएलएड में प्रवेश के लिए होने वाली प्री-डीएलएड परीक्षा के ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया शुरू नहीं हुई है। पिछले वर्ष प्री-डीएलएड की आवेदन की प्रक्रिया जून के दूसरे सप्ताह से शुरू हो गई थी। परीक्षा का आयोजन 31 अगस्त को हुआ था। रिजल्ट 27 सितंबर को जारी किया गया था। 

राजस्थान में प्रारंभिक शिक्षा में अध्यापक बनने के लिए आवश्यक दो साल के अध्यापक शिक्षा पाठ्यक्रम डीएलएड की प्रवेश परीक्षा प्री डीएलएड का आयोजन पंजीयक शिक्षा विभागीय परीक्षाएं बीकानेर करवाता है। 

 

परेशान अभ्यर्थियों का कहना है कि कोरोना के चलते पिछले दो साल से इस परीक्षा में देरी हुई। लेकिन अब कोरोना काबू में आने के बाद स्थितियां सामान्य हो चुकी हैं। ऐसे में बीएसटीसी प्री डीएलएड का नोटिफिकेशन क्यों जारी नहीं किया जा रहा है। 

अधिकतम आयु सीमा (पिछले साल के नोटिफिकेशन के मुताबिक)

आवेदन की अधिकतम आयु 28 वर्ष से अधिक न हो। 

अनुसूचित जनजाति / अन्य पिछड़ा वर्ग/ अति पिछडा वर्ग/ई.डब्लू.एस. एवं महिलाओं के लिए राजस्थान राज्य सरकार द्वारा निर्धारित प्रावधानों/नियमों के अनुसार आयु सीमा में छूट होगी।

चयन

लिखित परीक्षा और उसके बाद काउंसलिंग।

पिछले साल का ये है एग्जाम पैटर्न, इसी के मुताबिक कर सकते हैं तैयारी

– प्रश्न पत्र चार भागों में बंटा होगा। कुल 200 मल्टीपल च्वॉइस टाइप प्रश्न होंगे। प्रत्येक प्रश्न 3 अंका का होगा। चार खंडों – मानसिक योग्यता, राजस्थान की सामान्य जानकारी, शिक्षण अभिक्षमता, भाषा योग्यता (अंग्रेजी, संस्कृत, हिन्दी) से 50 – 50 प्रश्न आएंगे। 

– नेगेटिव मार्किंग नहीं होगी। 

–  खण्ड अ,ब,स एवं द का उपखण्ड I अंग्रेजी भाग सभी आवेदकों को हल करना आवश्यक होगा। खण्ड ‘द’ का उपखण्ड III संस्कृत भाग प्रारम्भिक शिक्षा में डिप्लोमा में प्रवेश लेने वाले आवेदकों को हल करना होगा तथा खण्ड ‘द’ का उपखण्ड III हिन्दी भाग प्रारम्भिक शिक्षा में डिप्लोमा सामान्य पाठ्यक्रम में प्रवेश लेने वाले आवेदकों को हल करना आवश्यक है। 

– जो अभ्यर्थी प्रारम्भिक शिक्षा में डिप्लोमा सामान्य एवं प्रारंभिक शिक्षा में डिप्लोमा संस्कृत दोनों का चयन करते हैं उन्हें खण्ड ‘द‘ का उप-खण्ड II संस्कृत भाग हल करना होगा।

Source link

Advertisement

Leave a Reply