Advertisement

Advertisement
  1. कहा, कमजोर वर्गों का सर्वांगीण विकास ही संत कबीर दास को सच्ची श्रद्धांजलि
  2. – अब संत कबीर कुटीर के नाम से जाना जाएगा हरियाणा के मुख्यमंत्री का निवास
  3. कबीर जयंती पर मुख्यमंत्री की बड़ी घोषणा- सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले अनुसार प्रमोशन में कैडर अनुसार आरक्षण का मिलेगा अधिकार
  4. – राज्य सरकार, केंद्र सरकार के नोटिफिक़ेशन अनुसार दिशानिर्देश जारी करेगी
  5. राज्य स्तरीय संत कबीर दास जयंती पर रोहतक में भव्य समारोह आयोजित
  6. – स्वामी आत्मानंद शिक्षण संस्थान का किया शिलान्यास
  • रोहतक: रोहतक में आयोजित राज्य स्तरीय संत कबीर दास जयंती समारोह में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कई बड़ी घोषणाएं कीं। मुख्यमंत्री ने घोषणा करते हुए कहा कि सरकारी कर्मचारियों को प्रमोशन में केंद्र की तरह कैडर के हिसाब से आरक्षण का प्रावधान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हरियाणा के जितने भी शिक्षण संस्थान, धर्मशालाएं ना केवल अनुसूचित जाति बल्कि पिछड़े समाज की हैं, उनमें एक कमरा उपलब्ध होने पर शिक्षा विभाग द्वारा पुस्तकालय की व्यवस्था करवाई जाएगी। श्री मनोहर लाल ने घोषणा की कि ना केवल अनुसूचित जाति बल्कि पिछड़े समाज की धर्मशालाओं में 5 किलोवाट का सोलर प्लांट लगाने में 75 प्रतिशत की सब्सिडी दी जाएगी। एनआईटी और आईआईटी में आरक्षण की व्यवस्था के लिए केंद्र से बात की जाएगी। इसके साथ ही, समाज की साढ़े पांच एकड़ जमीन में शिक्षण संस्थान की मांग पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इस जमीन में कोई भी एक प्रोजेक्ट जो 51 लाख रुपए तक का हो, उसे सरकार द्वारा बनाया जाएगा। उन्होंने स्वामी आत्मानंद शिक्षण संस्थान का शिलान्यास किया। इसके साथ ही संत कबीर जी के जन्मस्थान बनारस की जो भी कोई यात्रा करना चाहता हो उसके लिए रेलवे का किराया सबको दिया जाएगा। वहीं प्रदेश में किसी एक संस्थान का नाम संत कबीर के नाम से किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि चंडीगढ़ के उनके सरकारी आवास का नाम भी संत कबीर कुटीर किया जाएगा।

  • श्री मनोहर लाल ने कहा कि संत कबीर दास जी धार्मिक एकता के प्रबल समर्थक थे। उन्होंने मानव मात्र से प्रेम का संदेश दिया। उनके अनुयायी आज भी उनकी वाणी का प्रचार कर रहे हैं। उनकी शिक्षाएं समाज की धरोहर हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम संत कबीर के सिद्धांतों के अनुरूप अंत्योदय को वचनबद्ध हैं। उनकी शिक्षाएं और विचार आज भी प्रासंगिक हैं। कमजोर वर्गों का सर्वांगीण विकास ही उनको सच्ची श्रद्धांजलि होगा। उन्होंने प्रदेशवासियों से अपील की कि जात-पात के भेदभाव को भूलकर मानवमात्र से प्रेम करने का संकल्प लें। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा संत-महापुरुष विचार सम्मान एवं प्रसार योजना शुरू की गई है। इसके तहत संत-महापुरुषों की जयंती पर राज्य स्तर पर कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। सरकार ने श्री गुरु तेग बहादुर जी के प्रकाश पर्व पर राज्य स्तरीय समारोह, श्री गुरु नानक देव जी व श्री गुरु गोविन्द सिंह जी के प्रकाश पर्व पर भी राज्य स्तरीय आयोजन किया है। इसी तरह, नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पराक्रम दिवस और संत कबीर दास जी की जयंती भी इसी कड़ी का भाग है।

  • मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री ने सबका साथ-सबका विकास-सबका प्रयास का मूलमंत्र दिया। इसी तरह हमने भी हरियाणा एक-हरियाणवी एक का संकल्प लिया। हमारी सरकार हर गरीब, पीडि़त और वंचित को सशक्त बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। सरकार ने अंतिम पक्ति में खड़े व्यक्ति तक लाभ पहुंचाने का अभियान चलाया है। प्रदेश में योग्यता के आधार पर नौकरी दी जा रही है और 156 स्थानों पर 570 अंत्योदय मेला दिवस आयोजित किए गए हैं। इसके तहत अब तक 48 हजार से ज्यादा लोगों को रोजगार और 4,037 को ऋण दिया जा चुका है। अब इन मेला का तीसरा चरण शुरू होने जा रहा है।
    मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश में अनुसूचित जाति के बच्चों को छात्रवृत्तियां दी जा रही हैं। उच्चतर शिक्षा के लिए आरक्षण की व्यवस्था की गई है। वहीं प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी हेतु नि:शुल्क कोचिंग उपलब्ध करवाई जा रही है। सरकार द्वारा 12वीं तक मुफ्त पुस्तकें, वर्दी व लेखन सामग्री दी जा रही है। गरीब परिवारों की बेटियों की कॉलेज-यूनिवर्सिटी में भी फीस नहीं लगती है। स्नातक व स्नातकोत्तर पाठ्यक्रर्मों में दाखिले हेतु 10 प्रतिशत आरक्षण की व्यवस्था की गई है। अनुसूचित जाति के विद्यार्थियों को मेडिकल पी.जी. में नियमित आरक्षण दिया जा रहा है। इसके साथ डॉ. अम्बेडकर मेधावी छात्रवृत्ति योजना चलाई जा रही है। योजना का दायरा सभी वर्गों के लिए बढ़ाया गया है।

सिरसा की लोकसभा सांसद सुनीता दुग्गल ने जब मुख्यमंत्री मनोहर लाल को मामा कहा तो मुख्यमंत्री ने तुरंत अपने स्थान से उडक़र सुनीता दुग्गल को भांजी मानकर मान-सम्मान दिया। सांसद सुनीता दुग्गल ने अपने भाषण के दौरान कहा था कि रोहतक में उनका नानका है तथा रोहतक मेडिकल कॉलेज में उनका जन्म हुआ था। इसी आधार पर उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल को मामा कह कर पुकारा था।

भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष ओम प्रकाश धनखड़ ने संत कबीर दास जयंती के राज्य स्तरीय समारोह में उमड़े जन समूह को देखकर भावुक होते हुए कहा कि संत कबीर दास ने जनमानस को जागरूक किया था तथा उनकी वाणी आज भी हमारा मार्गदर्शन कर रही है। उन्होंने आम जनता का आह्वïान किया कि वे कबीर के दिखाये मार्ग पर चलते हुए उनकी शिक्षाओं को अपने जीवन में आत्मसात करें। उन्होंने कहा कि भाजपा के नेतृत्व में केंद्र व प्रदेश सरकार के शासनकाल के दौरान दृश्य बदला है। अयोध्या में श्रीराम के भव्य मंदिर का निर्माण हो रहा है। मुख्यमंत्री ने संस्कार व संस्कृति को एक साथ लाने का सराहनीय कार्य किया है। उन्होंने संत कबीर दास की 624वीं जयंती के उपलक्ष में कहा कि उन्हें आज तक इसलिए याद किया जा रहा है कि उन्होंने मानवता के कल्याण के लिए कार्य किया है। उन्होंने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार ऐसे आयोजनों के माध्यम से संत व संस्कृति को समाज के करीब लेकर आई है। उन्होंने संत कबीर दास के दोहों को दोहराते हुए कहा कि यदि मन चंगा हो तो सब चंगा हो जाये।

हरियाणा के श्रम व रोजगार राज्य मंत्री अनूप धानक ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल तथा उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला के नेतृत्व में प्रदेश में अनुसूचित जाति व अन्य पिछड़े वर्गो के कल्याण की दिशा में कार्य हो रहा है। भाजपा एवं जजपा की गठबंधन की सरकार द्वारा पिछड़े वर्गाे के कल्याण के लिए अनेक फैसले लिये है तथा सरकार इन वर्गों के कल्याण के लिए कार्य कर रही है। उन्होंने प्रदेशभर में स्थित इस समाज की सभी संस्थाओं मदद देने का आग्रह किया।

सिरसा की लोकसभा सांसद सुनीता दुग्गल ने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार द्वारा संत महात्माओं की जयंती को धुमधाम से सरकारी स्तर पर मनाया जा रहा है ताकि उनकी शिक्षाओं को घर-घर तक पहुंचाया जा सके। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरु तेग बहादुर के 400वें प्रकाश पर्व को लाल किले पर मनाया तथा मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने पानीपत में सरकारी स्तर पर प्रकाश पर्व आयोजित करवाया। केंद्र व प्रदेश सरकार संतों व महापुरुषों शिक्षा व संदेश को सम्पूर्ण समाज में पहुंचाना चाहती है। उन्होंने कहा कि संत कबीर दास की शिक्षा आज भी प्रासंगिक है। उन्होंने मुख्यमंत्री को सच्चे संत की उपाधि देते हुए कहा कि वे इस समाज की संस्थाओं की उन्नति में पूरा सहयोग कर रहे है। सम्पूर्ण समाज भी भारतीय जनता पार्टी के साथ है।

राज्यसभा के नवनिर्वाचित सांसद कृष्ण लाल पंवार ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी द्वारा समाज को पूरा मान-सम्मान देते हुए उन्हें राज्यसभा भेजने का कार्य किया है, जिसके लिए वे पार्टी संगठन का आभार व्यक्त करते है। उन्होंने पार्टी नेताओं को नमन करते हुए कहा कि प्रदेश में संतों की जयंती को पहली बार सरकारी स्तर पर मनाने का निर्णय मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा लिया। उन्होंने कहा कि संत सम्पूर्ण समाज के लिए होते है। उन्होंने संत कबीर दास के जीवन परिचय पर प्रकाश डाला तथा कहा कि समाज का हित भारतीय जनता पार्टी में निहित है। =

हरियाणा राजभवन के संयुक्त सचिव एवं संत कबीर दास जयंती के राज्य स्तरीय समारोह के समन्वयक अमरजीत सिंह ने प्रदेश के सभी हिस्सों से पहुंचे लोगों का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि पहली बार इस समारोह में सभी धर्मों, सभी जातियों व सभी समुदायों के लोग शामिल हुए है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने वर्ष 2019 में जींद में आयोजित संत कबीर दास जयंती के अवसर पर समाज को बहुत बड़ा तोहफा दिया है तथा मुख्यमंत्री इस समाज के कल्याण के लिए हमेशा तत्पर रहते है। उन्होंने समाज की रोहतक शहर में 5 एकड़ भूमि पर समाज के कल्याण के लिए संस्था बनाने का भी आग्रह किया।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल को स्वामी आत्मानंद आश्रम द्वारा पगड़ी पहनाकर सम्मानित किया गया। सर्व समाज में मुख्यमंत्री को कबीर साहित्य भेंट किया। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सतिभाई साईदास सेवादल के नरेश, गुलशन, मोहन को सम्मानित किया। इस संस्था द्वारा कोविड काल के दौरान भी श्रमिकों व गरीब लोगों को खाना उपलब्ध करवाया था तथा आज भी संस्था द्वारा लंगर की व्यवस्था की गई थी।

डॉ. अमित अग्रवाल ने मुख्यमंत्री को भेंट किया कबीर साहित्य :-
मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव तथा सूचना, जनसम्पर्क एवं भाषा विभाग के महानिदेशक डॉ. अमित अग्रवाल ने विभाग द्वारा संकलित किये गए कबीर साहित्य को मुख्यमंत्री मनोहर लाल को भेंट किया।

Advertisement

Leave a Reply