Sonipat News: बड़ौत रूट पर यातायात प्रभावित, बीच रास्ते से लौटीं बसें

0
44
Advertisement

Advertisement

फोटो 10- बस अड्डे पर बड़ौत रूट पर बस का इंतजार करते यात्री। संवाद

विस्तार

नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर उत्तर प्रदेश के गौरीपुर में विद्यार्थियों की तरफ से बनाई गई मानव शृंखला के चलते बड़ौत रूट पर यातायात बाधित रहा। सोनीपत बस अड्डे से बड़ौत जाने वाली बसें भी यमुना पुल से ही लौट आईं।

रोडवेज अधिकारियों ने भी इस रूट पर स्थिति सामान्य होने तक बसों का परिचालन बंद कर दिया। जिस कारण बड़ौत रूट पर जाने वाले यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। बस अड्डे पर यात्री बस का इंतजार करते रहे। करीब डेढ़ से दो घंटे तक बस नहीं लगने पर यात्रियों को निजी वाहनों का ही सहारा लेने पर मजबूर होना पड़ा।

सोनीपत बस अड्डे से बड़ौत के लिए रोडवेज की छह बसों का परिचालन किया जाता है। यह बसें दिनभर में तीन से चार फेरे लगाती हैं। बड़ौत रूट पर रोडवेज बसें प्रतिदिन करीब 20 फेरे लगाती हैं, ताकि यात्रियों को किसी प्रकार की परेशान न हो।

रोडवेज अधिकारियों ने बताया कि सोमवार को सुबह बड़ौत के लिए दो बसों को रवाना किया गया था, लेकिन गौरीपुर के पास विद्यार्थियों की रैली व मानव शृंखला बनाने के चलते लगे लंबे जाम के कारण दोनों बसों को रास्ता नहीं मिला। लंबे समय तक रास्ता नहीं मिलने पर दोनों बसों को लौटना पड़ा। जिसके बाद रोडवेज अधिकारियों ने इस रूट पर स्थिति सामान्य होने तक बसों का परिचालन बंद कर दिया। बस नहीं चलने से यात्री परेशान रहे और अधिकारियों से बार-बार बसें चलाने का समय पूछते रहे।

प्रशासनिक ड्यूटी में भेजी बसें, कई रूट प्रभावित

गणतंत्र दिवस समारोह की तैयारियों को लेकर रोजाना चार से छह रोडवेज बसों को प्रशासनिक ड्यूटी पर भेजा रहा है। जिस कारण कई रूटों पर यात्रियों को बसों की कमी झेलनी पड़ रही है। सोनीपत डिपो में वर्तमान समय में रोडवेज की करीब 55 बसें ही हैं, जबकि 42 बसें किलोमीटर स्कीम की हैं। पहले से बसों की कमी झेल रहे डिपो से कुछ बसों के प्रशासनिक ड्यूटी पर जाने से व्यवस्था डगमगा जाती है। जिसका खामियाजा यात्रियों को भुगतना पड़ता है। बसों की कमी के चलते दिल्ली, पानीपत व रोहतक पर यात्रियों को ज्यादा परेशानी झेलनी पड़ रही है। इन रूटों पर यात्री संख्या अधिक होने के कारण बस आते ही भर जाती है। यात्रियों ने इन रूटों पर बसों की संख्या बढ़ाने की मांग की है।
बोले यात्री

मुझे बेहद जरूरी काम से बड़ौत जाना था। दोपहर करीब 12 बजे बस अड्डे पर पहुंचा, लेकिन यहां बस नहीं मिली। करीब डेढ़ घंटे से बस का इंतजार कर रहा हूूं। अधिकारी भी संतोषजनक जवाब नहीं दे रहे। लगता है निजी बस का ही सहारा लेना पड़ेगा। -महावीर, लाठ-जोली

मैं किसी काम से सोनीपत आया था। वापस बड़ौत जाने के लिए बस अड्डे पर आया हूं, लेकिन एक घंटे से बूथ पर कोई बस नहीं लगी। बस नहीं आने से अधिकारियों से पूछा तो गोरीपुर के पास यातायात बाधित होने का पता लगा। बस कब चलेगी, कुछ पता नहीं। -इसरार, बड़ौत
काम के सिलसिले में मेरा अक्सर सोनीपत आना-जाना लगा रहता है। सोमवार सुबह सोनीपत आया था। दोपहर तक काम खत्म कर वापस जाने के लिए बस अड्डे पर आया था। यहां कोई बस नहीं मिली। अधिकारी रास्ता जाम होने की बात कह रहे हैं। एक घंटे से बस का इंतजार कर रहा हूं। बस कब चलेगी, पता नहीं। -धीरेंद्र शर्मा, गौरीपुर

सोनीपत से बड़ौत रूट पर यात्रियों को बेहतर सुविधा देने के लिए रोडवेज बसें दिन भर में 20 फेरे लगाती हैं। सोमवार सुबह जो बसें गई थी। वह भी यातायात बाधित होने के कारण वापस आ गई। जिस कारण इस रूट पर बसों का परिचालन स्थिति सामान्य होने तक रोका गया था। जिससे यात्रियों को थोड़ी परेशानी झेलनी पड़ी। यातायात बहाल होते ही बस को रवाना कर दिया जाएगा। कर्मबीर गहलावत, डीआई, रोडवेज डिपो, सोनीपत

फोटो 10- बस अड्डे पर बड़ौत रूट पर बस का इंतजार करते यात्री। संवाद

बस अड्डे पर बड़ौत रूट पर बस का इंतजार करते यात्री। संवाद

 

फोटो 10- बस अड्डे पर बड़ौत रूट पर बस का इंतजार करते यात्री। संवाद

बस अड्डे पर बड़ौत रूट पर बस का इंतजार करते यात्री। संवाद

 

फोटो 10- बस अड्डे पर बड़ौत रूट पर बस का इंतजार करते यात्री। संवाद

बस अड्डे पर बड़ौत रूट पर बस का इंतजार करते यात्री। संवाद

Source link

Advertisement

Leave a Reply