Advertisement

Advertisement
ख़बर सुनें

BPSC 66th Result Topper Success Story: बिहार लोक सेवा आयोग की ओर से गुरुवार, 04 अगस्त, 2022 को बीपीएससी की 66वीं संयुक्त प्रतियोगी परीक्षा का परिणाम जारी किया गया था। इस परिणाम के बाद बिहार को कई टॉपर्स मिले, जिनमें बेटियां भी शामिल हैं। लेकिन इनमें से ही एक टॉपर जूही कुमारी के लिए यह उपलब्धि बेहद खास है और दूसरों के लिए प्रेरणास्रोत भी। 

307वीं रैंक पा कर बनीं आरडीओ

बिहार के सारण जिले के मढौरा खुर्द की निवासी जूही के परिवार में बीपीएससी का रिजल्ट खुशियों की सौगात लेकर आया। जूही ने 307वीं रैंक पाई है और वह अब आरडीओ यानी रूरल डेवलपमेंट ऑफिसर बन गई है। इस रिजल्ट के जारी होने के बाद से ही परिवार में बधाइयां देने वालों का आवागमन जारी है। परिवार में जूही सबसे छोटी है। उससे बड़ी दो बहन और एक भाई है। 

 

बेटी की सफलता पर गर्व 

जूही कुमारी के पिता आलू- प्याज बेचते हैं। आलू-प्याज बेचने से होने वाली आमदनी से ही अपनी सबसे छोटी बेटी की पढ़ाई का पूरा खर्च वहन  करने का प्रयास करते हैं। साथ ही हर कदम पर बेटी का सहारा बनकर उत्साह बढ़ाते रहे हैं। मीडिया से बातचीत जूही के पिता ने बताया कि उन्हें अपनी बेटी की सफलता पर गर्व है। उन्होंने बताया कि जूही मढौरा में ही रह कर इंटरमीडिएट तक पढ़ाई की। इसके बाद स्नातक की पढ़ाई छपरा से की। 

 

दो बार विफल रही जूही को तीसरे प्रयास में मिली सफलता

जूही ने बताया कि वह इससे पहले दो बार मेंस की परीक्षा में विफल रही थीं, लेकिन हिम्मत नहीं हारी। इसके बाद अच्छे दिन आए। वह अपने तीसरे प्रयास में न केवल सफल रही बल्कि 307वीं रैंक भी पाई। जूही का चयन बिहार सरकार में रूरल डेवलपमेंट ऑफिसर के पद पर हुआ है। बीपीएसी ने रिजल्ट अधिसूचना में बताया था कि इस मौखिक परीक्षा / साक्षात्कार में कुल 1,768 उम्मीदवार शामिल हुए थे, जबकि 70 अनुपस्थित रहे थे।  

विस्तार

BPSC 66th Result Topper Success Story: बिहार लोक सेवा आयोग की ओर से गुरुवार, 04 अगस्त, 2022 को बीपीएससी की 66वीं संयुक्त प्रतियोगी परीक्षा का परिणाम जारी किया गया था। इस परिणाम के बाद बिहार को कई टॉपर्स मिले, जिनमें बेटियां भी शामिल हैं। लेकिन इनमें से ही एक टॉपर जूही कुमारी के लिए यह उपलब्धि बेहद खास है और दूसरों के लिए प्रेरणास्रोत भी। 

Source link

Advertisement

Leave a Reply