Advertisement

Advertisement
Toyota, व्हील बोल्ट के लिए ग्लोबल लेवल पर 2,700 bZ4X क्रॉसओवर व्हीकल्स को रिकॉल कर रही है। जापानी ऑटोमेकर की इलेक्ट्रिक कारों को रोल आउट करने के सपने को लेकर यह बड़ा झटका है। Toyota Motor ने शुक्रवार को कहा कि इसकी वजह क्या है इसको लेकर अभी भी जांच की जा रही है। इसकी वजह से एक्सीडेंट का खतरा बढ़ते हुए पहिया बंद हो सकता है। आज के समय में फ्यूल की बढ़ती कीमतों से राहत और वातावरण में बढ़ते प्रदूषण में बचाव के लिए इलेक्ट्रिक कारों का इस्तेमाल किया जा रहा है। देश और दुनिया की जानी-मानी कंपनियां इस समय इलेक्ट्रिक वाहनों के निर्माण पर ज्यादा जोर दे रही हैं।कंपनी ने एक स्टेटमेंट में कहा कि “जब तक समाधान नहीं उपलब्ध होता है तब तक किसी को भी इन वाहनों को इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।” टोयोटा के मुताबिक, लेटेस्ट रिकॉल के चलते वाहनों में यूरोप के अंदर करीब 2,200, नॉर्थ अमेरिका के लिए 270, जापान के लिए 112 और बाकि 60 एशिया के लिए थे। इनका प्रोडक्शन मार्च और जून के बीच किया गया था। करीब दो माह पहले सेल के लिए शुरू हुई bZ4X टोयोटा की इलेक्ट्रिक लाइनअप को मजबूत करने के प्लान का मुख्य मॉडल है।

Toyota  2030 तक 30 ईवी मॉडल बनाने का प्लान बना रही है जो उस साल ग्लोबल लेवल पर 35 लाख इलेक्ट्रिक व्हीकल बेच रही है। Toyota  भी ऐसे टारगेट को हासिल करने के लिए बैटरी रिसर्च और डेपलपमेंट में 2 ट्रिलियन येन यानी कि करीब 130 करोड़ रुपये का निवेश कर रही है।

Toyota के मुताबिक, रिकॉल किए गए मॉडल के नाम में “बीजेड” साथ ही साथ अन्य कामों में “जीरो से परे” सीरीज के लिए  है, जिसमें सभी साइज के स्पोर्ट्स-यूटिलिटी व्हीकल पिकअप ट्रक और स्पोर्ट्स कार शामिल हैं।

Prius hybrid और Lexus  लग्जरी मॉडल के निर्माता को कुछ आलोचकों द्वारा इलेक्ट्रिक व्हीकल को आगे बढ़ाने में एक स्ट्रगलर के तौर पर देखा गया है। कुछ स्तर पर क्योंकि यह अन्य ग्रीन टेक्नोलॉजी जैसे कि हाइब्रिड और फ्यूल सेल और कुशल गैस इंजन के साथ ही साथ इतनी तेज और सफल रही है।

यूक्रेन में मुद्रास्फीति और युद्ध की चिंताओं के बीच खासतौर पर हाल ही में फ्यूल की कीमतों में बढ़ोतरी के साथ इलेक्ट्रिक कारों की डिमांड बढ़ने की संभावना है। दुनिया भर के लोग जलवायु परिवर्तन और पर्यावरण के बारे में अधिक जागरूक हो गए हैं।

Source link

Advertisement

Leave a Reply