Advertisement
Photo:FILE Uber 

Highlights

  • उबर इंडिया ने ईंधन की कीमतों में तेजी का हवाला देते हुये किराये में बढ़ोतरी की घोषणा की
  • भारत में उबर की प्रतियोगी कंपनी ओला ने किराए में वृद्धि की घोषणा नहीं की है
  • ईंधन के बढ़ते दाम का बोझ उबर के ड्राइवरों पर न पड़े, इसके लिये किराये में बढ़ोतरी

अब उबर की कैब से सफर करना आपको महंगा पड़ेगा। उबर इंडिया ने ईंधन की कीमतों में तेजी का हवाला देते हुये किराये में बढ़ोतरी की घोषणा की है। हालांकि भारत में उबर की प्रतियोगी कंपनी ओला ने किराए में वृद्धि की घोषणा नहीं की है। 

Advertisement

समाचार एजेंसी आईएएनएस के अनुसार उबर इंडिया के निदेशक नीतीश भूषण ने गुरुवार को कहा कि ईंधन के बढ़ते दाम का बोझ उबर के ड्राइवरों पर न पड़े, इसके लिये किराये में बढ़ोतरी की गई है। उन्होंने बताया कि ड्राइवरों में यह मामला कंपनी के समक्ष उठाया था। 

ड्राइवर्स की बढ़ेगी कमाई 

उन्होंने कहा कि ईंधन की कीमतों में तेजी ने सभी को प्रभावित किया है, खासकर राइड शेयरिंग करने वाले ड्राइवर्स को यह अधिक महसूस हुआ है। नीतीश ने कहा कि उबर का हमेशा से प्रयास रहा है कि ड्राइवर उससे जुड़ने को आकर्षक विकल्प के रूप में समझें। किराये में बढ़ोतरी करने से उनकी प्रति ट्रिप आमदनी बढ़ जायेगी।

अब प्रतिदिन होगा ड्राइवर्स को भुगतान

कंपनी ने कहा कि अब ड्राइवर्स राइड स्वीकार करें, उससे पहले उन्हें राइडर्स का गंतव्य दिखता है। उन्हें ट्रिप शुरू करने से पहले पेमेंट मोड भी दिखता है। उबर ने ड्राइवर को प्रति दिन भुगतान की भी नई प्रक्रिया शुरू की है। उबर ने लेकिन ड्राइवर्स द्वारा राइड रद्द किये जाने और सर्ज प्राइसिंग के मुद्दे पर चर्चा नहीं की। 

सरकार दिखा चुकी है सख्ती 

पिछले सप्ताह ही केंद्रीय उपभोक्ता संरक्षण प्राधिकरण ने उबर और ओला जैसी कंपनियों को राइड रद्द किये जाने, कैंसिलेशन चार्ज, रैंडम सर्ज प्राइसिंग, अधिक वेटिंग टाइम जैसी यूजर्स की शिकायतों का निवारण करने की चेतावनी दी है। ऐसा न करने पर कंपनियों पर जुर्माना लगाया जा सकता है। केंद्रीय उपभोक्ता संरक्षण प्राधिकरण की मुख्य आयुक्त निधि खरे ने इन कंपनियों को 30 दिन के भीतर अपना एल्गोरिदम ठीक करने के लिये कहा है। 

Source

Advertisement

Leave a Reply