Uniform Civil Code: इस राज्य में बनेगा सबसे सख्त यूनिफॉर्म सिविल कोड, केवल एक बीवी रखने की मिलेगी इजाजत और …

0
43
Advertisement

Advertisement
Uniform Civil Code Politics in Madhya Pradesh: क्या देश में समान नागरिक संहिता यानी यूनिफॉर्म सिविल कोड (Uniform Civil Code) बनाने की दिशा में विभिन्न राज्य एकमत होते जा रहे हैं या फिर यह चुनाव जीतने का एक फॉर्मूला बन गया है. उत्तराखंड, गुजरात, हिमाचल प्रदेश की तरह अब मध्य प्रदेश की बीजेपी सरकार ने भी ऐलान कर दिया है कि वह राज्य में यूनिफॉर्म सिविल कोड लागू करने के लिए कमेटी का गठन करेगी. इस कोड के लागू होने के बाद सभी पुरुषों को केवल एक पत्नी रखने का अधिकार होगा और इससे ज्यादा बीवियां रखने वालों पर कार्रवाई की जाएगी. 

‘मैं देश में UCC लागू करने का पक्षधर’

गुरुवार को डिंडोरी पहुंचे सीएम शिवराज चौहान ने कहा, ‘मैं देश में समान नागरिक संहिता लागू करने का पक्षधर हूं. इसके लिए हम मध्यप्रदेश में भी एक कमेटी बना रहे हैं. जो लोग शादी जैसे पवित्र बंधन के नाम पर जनजातीय भाई-बहनों की जमीन हड़पने का छल करते हैं, इस कानून के बन जाने के बाद  ग्रामसभा ऐसे लोगों पर कार्रवाई कर सकेगी.’ 

‘आदिवासी की बेटी से शादी करके हड़प रहे जमीन’

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘कई बार बड़े खेल हो जाते हैं. खुद जमीन नही ले सकते तो किसी आदिवासी के नाम से जमीन ले ली. कई बदमाश ऐसे भी आ गए जो आदिवासी बेटी से शादी करके जमीन उसके नाम से ले लेते हैं. आज मैं जागरण की अलख जगाने आया हूं. बेटी से शादी की और जमीन ले ली, अब ऐसा नहीं हो पाएगा. मैं तो इस बात का पक्षधर हूं कि भारत में अब समय आ गया है एक समान नागरिक संहिता लागू होनी चाहिए. एक से ज्यादा शादी क्यों करे कोई. हमें इसे रोकना ही होगा.’ 

‘सबको केवल बीवी रखने का होगा अधिकार’
  
चुनाव से पहले यूसीसी पर बड़ा दांव चलते हुए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा, ‘एक देश में दो विधान क्यों चले, एक ही होना चाहिए. मध्य प्रदेश में भी मैं कमेटी बना रहा हूं. समान नागरिक संहिता में एक पत्नी रखने का अधिकार है, तो एक ही पत्नी सबके लिए होनी चाहिए. अगर किसी ने एक ही वक्त में एक से ज्यादा शादियां की तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. फिर चाहे वह किसी भी वर्ग से क्यों न हो.’ 

‘संविधान का उल्लंघन कर रही है बीजेपी’

अगले साल एमपी में होने वाले असेंबली चुनाव से पहले बीजेपी की इस घोषणा से राज्य की राजनीति में बवाल शुरू हो गया है. कांग्रेस पार्टी ने इस घोषणा पर ऐतराज जताते हुए कहा है कि बाबा साहब अंबेडकर ने संविधान समानता के आधार पर बनाया है, फिर बीजेपी किस समानता की बात कर रही है. कांग्रेस के पूर्व सांसद प्रताप भानु शर्मा ने कहा कि यह मुद्दों से भटकाने की राजनीति है. बीजेपी अपने तरीके से देश का संविधान बदलने में जुटी है. यह बाबा साहब अंबेडकर और संविधान का अपमान है. इसके खिलाफ कांग्रेस आंदोलन करेगी.

(पाठकों की पहली पसंद Zeenews.com/Hindi – अब किसी और की ज़रूरत नहीं)

Source link

Advertisement

Leave a Reply