UP Madarsa Board Exam 2021: UP Madarsa Board 10th 12th exams canceled due to Corona

0
149
Advertisement

Advertisement

UP Madarsa Board Exam 2021 :  उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा बोर्ड की 10वीं और 12वीं की शैक्षिक सत्र 2020-21 की वार्षिक परीक्षाएं नहीं होंगी। प्रदेश के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी ने यह जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि माध्यमिक शिक्षा परिषद और सीबीएसई बोर्ड की ही तर्ज पर कोरोना संक्रमण के कारण इस बार मदरसा बोर्ड की 10वीं व 12वीं कक्षाओं की वार्षिक परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं।

मंत्री नन्दी ने बताया कि कोरोना वायरस के कारण पैदा हुई असाधारण परिस्थितियों के मद्देनज़र छात्र हित में सत्र को नियमित करने के लिए बेसिक शिक्षा विभाग व माध्यमिक शिक्षा विभाग की भांति उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद द्वारा संचालित मान्यता प्राप्त, राज्यानुदानित मदरसों, विद्यालयों में शैक्षणिक सत्र 2020-21 के लिए  कक्षा 10 एवं 12 की बोर्ड परीक्षा को निरस्त कर दिया गया है।

कक्षा 1 से 8 (तहतानिया / फौकानिया) तक एवं कक्षा 9 व 11 के छात्र-छात्राओं को अगली कक्षा में प्रोन्नति दिए जाने का निर्णय लिया गया है। प्रोन्नति दिए जाने के संबंध में बेसिक शिक्षा विभाग/माध्यमिक शिक्षा विभाग द्वारा समय-समय पर जारी  किए गिए और जारी किये जाने वाले शासनादेशों में उल्लिखित प्रावधानों/शर्तों का अनुपालन सुनिश्चित किया जाएगा।

मंत्री नन्दी ने ये भी कहा कि उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद द्वारा प्रस्तावित शैक्षणिक सत्र 2020 की बोर्ड परीक्षाओं में सेकेंडरी कक्षा 10 एवं सीनियर सेकेंडरी कक्षा 12 के पंजीकृत छात्र छात्राओं के परीक्षाफल को तैयार करने एवं परीक्षाफल अंकों के अभिलिखित किए जाने की प्रक्रिया एवं आधारों के संबंध में अलग से आदेश जारी किए जाएंगे।

उधर, मदरसा बोर्ड के रजिस्ट्रार आर.पी. सिंह द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, शैक्षिक सत्र 2020-21 के लिए 10वीं कक्षा यानि सेकेण्ड्री में कुल 96836 छात्र-छात्राओं ने परीक्षा फार्म भरे थे। इनमें अरबी सेकेण्ड्री में रेग्यूलर के 47113 और प्राइवेट के 10836 छात्र-छात्राएं शामिल हैं जबकि फारसी सेकेण्ड्री में रेग्यूलर के 32940 और प्राइवेट के 5947 छात्र-छात्राओं ने फार्म भरे थे।

सीनियर सेकंडरी यानि 12वीं कक्षा की परीक्षा के लिए कुल 25628 छात्र-छात्राओं ने फार्म भरे थे, इनमें रेग्यूलर के 18017 और प्राइवेट के 7611 छात्र-छात्राएं शामिल हैं। बोर्ड द्वारा संचालित कामिल फाजिल यानि स्नातक और स्नातकोत्तर कक्षाओं की परीक्षाओं के बारे में अभी निर्णय नहीं लिया गया है। मदरसा शिक्षकों के संगठन आल इण्डिया टीचर्स एसोसिएशन मदारिसे अरबिया के राष्ट्रीय महामंत्री वहीदुल्लाह खान ने यूपी मदरसा बोर्ड को पत्र भेज कर मांग की है कि सभी कक्षाओं की परीक्षाएं निरस्त कर उनमें अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को अगली कक्षाओं में प्रोन्नति देकर परीक्षाफल घोषित किया जाए। 

संबंधित खबरें

Source link

Advertisement

Leave a Reply