UPSC IAS : Rajasthan beat UP in cse IAS officer list only 3 candidates got home cadre allotment list

0
33
Advertisement

Advertisement
UPSC IAS Exam : यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2021 में आईएएस के लिए चयनित 179 अभ्‍यर्थियों में से सबसे अधिक 24 आईएएस अभ्यर्थी राजस्‍थान के रहने वाले हैं। जबकि 19 आईएएस अभ्यर्थियों के साथ यूपी दूसरे नंबर है। पिछले साल 22 आईएएस देकर राजस्‍थान दूसरे स्‍थान और यूपी 30 आईएएस के साथ नंबर एक पर रहा था। यानी इस बार नए आईएएस देने के मामले में राजस्‍थान टॉपर बना है। सिविल सेवा 2021 से राजस्थान के जो 24 अभ्यर्थी आईएएस अफसर बने हैं, इनमें से सिर्फ तीन को ही होम कैडर राजस्थान अलॉट हुआ है। यानी इन तीनों को गृह राज्य राजस्थान में पोस्टिंग मिली है। इनमें यूपीएससी सिविल सर्विसेज में 9वीं रैंक पाने वाले प्रीतम कुमार , 49वीं रैंक पाने वाले दिव्यांश सिंह  और 61वीं रैंक हासिल करने वाले मोहित कासनिया शामिल हैं। मूल रूप से राजस्थान के सीकर जिले के रहने वाले प्रीतम कुमार ने आईआईटी रोपड़ (पंजाब) से पढ़ाई की है। यूपीएससी का उनका तीसरा प्रयास था।

वहीं जयपुर के रहने वाले दिव्यांश सिंह ने आईआईटी दिल्ली से पढ़ाई की है। वह चौथे प्रयास में आईएएस बने हैं। पहले वह आईआरएस बन चुके हैं। राजस्थान के हनुमानगढ़ जिले के रहने वाले मोहित कासनिया का चयन आईपीएस पर हो चुका था लेकिन वह आईएएस बनना चाहते थे। इसलिए उन्होंने फिर से यूपीएससी दिया। इस बार वह 61वीं रैंक लाकर आईएएस पाने में सफल रहे।  मोहित ने 12वीं तक की पढ़ाई पीलीबंगा से की और इसके बाद जयपुर से इंजीनियरिंग की पढ़ाई की। इसके बाद दिल्ली में जेएनयू में पीएचडी में दाखिला लिया। 

राजस्थान के रहने वाले ये 24 अभ्यर्थी बने IAS ऑफिसर

9वीं रैंक, प्रीतम कुमार – राजस्थान कैडर

18वीं रैंक, रवि कुमार सिहाग – मध्य प्रदेश कैडर

22वीं रैंक, सुनील कुमार धनवंता – यूपी कैडर

30वीं रैंक, नमन गोयल – महाराष्ट्र कैडर

49वी रैंक, दिव्यांश सिंह – राजस्थान कैडर

59वीं रैंक, मुकुल जैन – कर्नाटक कैडर

61वीं रैंक, मोहित कासनिया, राजस्थान कैडर

93वीं रैंक, दीपेश कुमार, झारखंड कैडर

104वीं रैंक, प्रह्लाद नारायण शर्मा – ओडिशा कैडर

120वीं रैंक, तनुश्री मीणा  – मध्य प्रदेश कैडर

221वीं रैंक, विकास रुहेला – वेस्ट बंगाल कैडर

243वीं रैंक, उत्कर्ष खंडाल – वेस्ट बंगाल कैडर

260वीं रैंक, नेहा ब्यादवाल – यूपी कैडर

328वीं रैंक, राम मोहन मीणा- यूपी कैडर

331वीं रैंक, वंदना मीणा- गुजरात कैडर

343वीं रैंक, राघवेंद्र मीणा – आंध्र प्रदेश कैडर

367वीं रैंक, राजेश कुमार मौर्या, गुजरात कैडर

382वीं रैंक, कृष्णकांत कांवड़िया, झारखंड कैडर

384वीं रैंक, यशवंत मीणा, AGMUT कैडर

415वीं रैंक, सुलोचना मीणा, झारखंड कैडर 

458वीं रैंक, युवराज मरमत, छत्तीसगढ़ कैडर

498वीं रैंक, दीपक कुमार, त्रिपुरा कैडर

520वीं रैंक, विनय कुमार मीणा, तमिलनाडु कैडर

547वीं रैंक, निशांत सिहारा, केरल  कैडर

राजस्थान के रहने वाले इन तीन आईएएस अभ्यर्थियों को मिला अपना होम कैडर राजस्थान

9वीं रैंक , प्रीतम कुमार 

49वीं रैंक दिव्यांश सिंह 

61वीं रैंक, मोहित कासनिया

यूपी के 19 अभ्यर्थी बने IAS अफसर, लेकिन सिर्फ इन 3 को मिला अपने राज्य की सेवा का चांस

पासआउट हुए बैच से राजस्थान को मिले कुल 9 नए IAS अफसर

मसूरी स्थित लाल बहादुर शास्त्री प्रशिक्षण अकादमी में प्रशिक्षण पूरा होने के बाद देश भर के सभी आईएएस अफसरों को कैडर अलॉट किया गया है। केन्द्र सरकार ने राजस्थान कैडर में 9 नए युवा प्रोबेशनर आईएएस अफसर अलॉट किए हैं। इन अफसरों में यक्ष चौधरी, प्रीतम कुमार, यशार्थ शेखर, अंशु प्रिया, सक्षम गोयल, दिव्यांश सिंह, श्रद्धा गोम, मोहित कासनिया, भाईसारे शुभम अशोक शामिल हैं। 

किस राज्‍य से कितने आईएएस

24 राजस्‍थान 

19 उत्‍तर प्रदेश 

16 दिल्‍ली 

14 महाराष्‍ट्र, बिहार 

12 मध्‍य प्रदेश 

10 तेलंगाना 

9 हरियाणा, झारखंड 

7 तमिलनाडु 

6 कर्नाटक 

5 पंजाब, आंध्र प्रदेश, उत्‍तराखंड, केरल 

4 ओडिशा, छत्‍तीसगढ़ 

3 पश्चिम बंगाल, जम्‍मू कश्‍मीर 

1 चंडीगढ़, गुजरात, मणिपुर व असम

आपको बता दें कि यूपीएससी सिविल सर्विस एग्‍जाम 2021 का रिजल्‍ट 30 मई को जारी कर दिया गया था। परीक्षा में श्रृति शर्मा ने पहला स्थान और अंकिता अग्रावल और गरिमा सिंगला ने दूसरा और तीसरा स्थान हासिल किया था। यूपीएससी भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस), भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस) , भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस), भारतीय राजस्व सेवा (आईआरएस) समेत की तरह की सिविल सेवओं के लिए अधिकारियों का चयन करने के लिए प्रतिवर्ष तीन चरणों में प्रारंभिक, मुख्य और साक्षात्कार सिविल सेवा परीक्षा आयोजित कराती है। इस भर्ती परीक्षा में हर साल करीब 9 लाख युवा बैठते हैं।

Source link

Advertisement

Leave a Reply